Politics

A Promise Land: ओबामा ने राष्ट्रपति रहते हुए बड़े मुश्किल से संभाला था पत्नी मिशेल से रिश्ता, बताया क्या दिक्कतें आई

A Promise Land: इन दिनों अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की किताब के बारे में खूब चर्चा हो रही है, वजह है भारत से उनका खास कनेक्शन व यहां की राजनीति के बारे में उनकी किताब ‘अ प्रॉमिस लैंड’ में यहां के राजनेताओं के बारे में खास टिप्पणी.

भारतीय राजनेताओं के बारे में खासा टिप्पणी कर चुके बराक ओबामा (Barack Obama) अब कई भारतीय नेताओं व कांग्रेस समर्थकों को खटकने लगे हैं. सोनिया गांधी और राहुल गांधी के बारे में टिप्पणी करने पर कई कांग्रेस समर्थकों ने ओबामा को नसीहत दी कि उन्हें ऐसा कहने का बिलकुल भी हक नहीं है, शिवसेन के दिग्गज नेता संजय राउत कहते हैं भारतीय राजनीति के बारे में टिप्पणी करने का ओबामा को अधिकार नहीं है.

यह भी पढ़ें:  Diego Maradona dies: महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना का 60 की उम्र में निधन , सौरव गांगुली बोले 'नहीं रहा मेरा हीरो'

खैर राजनीति के अलावा बराक ओबामा ने इस किताब में राष्ट्रपति दौर की बातों का जिक्र किया है, निजी जिंदगी के बारे में बताना भी वह नहीं भूले. यूं तो 59 वर्षीय बराक ओबामा और 56 वर्षीय मिशेल ओबामा (Michelle Obama) की जोड़ी देखकर कभी लगता नहीं है कि उन्हें भी कभी रिश्ते में कोई दिक्कत का सामना करना पड़ा हो लेकिन ओबामा की मानें तो यह रिश्ता व राष्ट्रपति रहते बीजी शेड्यूल के बीच वह एक तरह से तनाव में आ चुके थे.

आपको बता दें बराक जब मिशेल के प्यार में पड़े थे तब उनकी उम्र 28 थी जबकि मिशेल की 25, दोनों के पास वक्त था और दोनों का प्यार परवान चढ़ चुका था, 1992 में शादी के बंधन में बंध गए लेकिन जैसे ही बराक व्हाईट हाउस में घुसे, दोनों को एक दूसरे के लिए वक्त कम मिलने लगा, क्योंकि अब मीडिया उन्हें किसी भी वक्त अकेला नहीं छोड़ा करती थी.

यह भी पढ़ें:  PM Modi DeathThreats: पीएम मोदी को मिल रही हैं जान से मारने की धमकियां, दिल्ली पुलिस ने दिखाई तत्परता

ओबामा कहते हैं जब कभी वह मिशेल के साथ डिनर प्लान करते थे तो इसके लिए हफ्तों पहले ही प्लान करना होता था, मिशेल ने इस तरह की लाइफ का चयन नहीं किया था. न चाहते हुए मिशेल और बच्चों को मीडिया का सामना करना पड़ता था. सोशल मीडिया हो या मीडिया, उनके साथ ही बच्चे साशा (Sasha), मालिया (Malia) व पत्नी मिशेल भी हमेशा कैमरे में रहने लगे थे जो ओबामा के लिए सहज तो हो चुका था लेकिन  मिशेल को यह पसंद नहीं था.

अमेरिका के पहले अफ्रीकन -अमेरिकन राष्ट्रपति रहे ओबामा ने डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ा और 44वें अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली थी, एक राष्ट्रपति के तौर पर उन्होंने पूरे दुनियाभर में अपनी छाप छोड़ी.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top