Viral

Pakistan: 22 वर्षीय पाकिस्तानी युवक अदनान करना चाहता है चौथी शादी, तीनों पत्नियां जुटी सौतन की तलाश में

Pakistan: मुस्लिम की 2-4 शादियां सभी ने सुनी होंगी लेकिन बीवियां जो पति को लेकर बेहद स्वामिगत होती हैं वह भी अपनी सौतन की तलाश खुशी खुशी कर रही हैं, शायद आज पहली बार सुन रहे होंगे.

पाकिस्तान की मीडिया में एक खबर इन दिनों चर्चा का विषय बनी है, मात्र 22 वर्षीय युवक जिसका नाम अदनान (Adnan) बताया जा रहा है, चौथी शादी के लिए बेहद उत्साहित है, साथ ही चौथी शादी के लिए एक शर्त भी रखी जा चुकी है. शर्त ये है कि दुल्हन का नाम ‘श’ से ही होना चाहिए, क्योकि पहले के तीनों पत्नियों का नाम भी इसी अल्फाबेट से शुरू होता है.

यह भी पढ़ें:  26/11: कसाब ने बनाई थी समीर चौधरी नाम की फर्जी आईडी, पूर्व कमिश्नर राकेश मारिया की किताब से हुए चौंकाने वाले खुलासे

कमाल की बात तो ये है कि तीन पत्नियों, 5 बच्चों व 1 पति का यह परिवार बेहद सुखी जीवन जी रहा है लेकिन उन्हें लगता है कि S नाम की एक और औरत घर में आ जाए तो शुभ हो जाएगा, और इसके बाद परिवार पूरा हो जाएगा. सोशल मीडिया पर अदनान व तीनों बीवियों की तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही हैं, लोग इस बात से हैरान हैं आखिर ये कैसी औरतें हैं तो सौतन के लिए मरी जा रही हैं.

सियालकोट का रहने वाला यह युवक पढ़ाई के दौरान ही 16 साल की उम्र में पहली शादी करता है, पहली पत्नी का नाम है शुंभाल, अदनान-शुंभाल के 3 बच्चे हैं, दूसरी शादी 20 की उम्र में होती है, अदनान-शुबाना के 2 बच्चे हैं, पिछले साल ही उसकी शादी शाहिदा से होती है, जिससे कोई बच्चा नहीं है लेकिन शुबाना से एक बच्चा तीसरी बीवी शाहिदा ने गोद लिया है.

यह भी पढ़ें:  Delhi Crime: बुर्के वाली ने गोलियों और गालियों से फैलाई दहशत, परचून की दुकान पर धांय धांय

नवभारत टाइम्स में छपे आर्टिकल के मुताबिक अदनान के घर का खर्चा महीने का डेढ़ लाख पाकिस्तानी रुपए है, उसके पास 6 बेड रूम वाला मकान है, भले शादियां उसने तीन की हों लेकिन घर में किसी भी तरह का कलेश नहीं है, तीनों बीवियां मिलजुल कर रहती हैं और उसकी खूब सेवा करती हैं. उनमें से कोई कपड़े, कोई  सफाई, कोई शू पॉलिश कर लेता है.

रूढ़िवादी सोच का दौर जा रहा है लेकिन ऐसा जायज है या नहीं यह तो समाज के उपर है लेकिन मुस्लिम देशों में यह लीगल है. छोटे मुल्क की आबादी यूंही 22 करोड़ नहीं पहुंची है, प्रैक्टिकल सोचा जाए तो यह जनसंख्या विस्फोट का कारण है और आगे जाकर कहीं न कहीं देश को इसका दुष्परिणाम भुगतना पड़ेगा.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top