India News

Karnataka: 14 साल की जेल काटने के बाद पूरा किया डॉक्टर बनने का सपना, पढ़िए वायरल स्टोरी

Karnataka Viral Story: मर्डर करने के जुर्म में जेल गए शख्स ने सजा काटने के बाद भी आंखों में जारी रखा वही सपना, आज सोशल मीडिया पर एक ऐसी शख्स की स्टोरी ने हर किसी को निशब्द कर दिया है. जहां मामूली सी बात को लेकर लोग अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं, कर्नाटक के सुभाष पाटिल उनके लिए मिशाल हैं.

कालाबुरागी के रहने वाले सुभाष पाटिल (Subhash Patil) बचपन से डॉक्टर बनने का सपना देख रहे थे, इसी वजह से 14 साल का बनवास काटकर भी वह इस लक्ष्य पर अडिग रहे और कारागार से वापस लौटने के बाद MBBS की पढाई चालू रखी, और कामयाब भी हुए.

यह भी पढ़ें:  Corona Relief Fund: कार्तिक आर्यन ने पीएम-केयर्स को दी इतनी बड़ी रकम, जानकर आप भी हो जाएंगे मुरीद

साल 2002 की बात है जब अदालत ने उन्हें एक हत्या का दोषी पाया और 14 साल के लिए सलाखों की हवा खाने के लिए भेज दिया. नवंबर 2002 को बंगलूरु पुलिस के शिकंजे गए पाटिल आज 1 साल का इंटर्नशिप कम्पलीट कर चुके हैं, उनकी उम्र 40 वर्ष बताई जा रही है.

मर्डर करने के पीछे की कहानी का खुलासा अभी नहीं हो पाया जबकि लोग उनके हौंसले को सलाम कर रहे हैं, बेशक हत्या जैसा अपराध अस्वीकार्य है लेकिन पूरी सजा काटने के बाद लोगों के लिए भगवान बनने की स्टोरी आज सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है.

यह भी पढ़ें:  Viral: जमीन पर अकेले बैठे पत्तल में खाना खाता पुलिसकर्मी, वायरल तस्वीर ने जीता लोगों का दिल

जिस वक्त सुभाष पाटिल को जेल हुई थी, वह उस वक्त कालाबुरागी के एमआर मेडिकल कॉलेज में तीसरे वर्ष की पढाई कर रहे थे, साल 2016 में उनके अच्छे आचरण को देखते हुए जेल से उन्हें रिहा कर दिया गया, और इस तरह उन्होंने 2019 में अपनी MBBS की पढाई पूरी की और आज लोगों का इलाज कर रहे हैं.

आपको जानकर हैरानी होगी कि सुभाष ने जेल में भी पढाई जारी रखी, 2008 में स्वास्थ्य विभाग ने तपेदिक से प्रभावित कैदियों के इलाज के लिए सम्मान भी दिया. जेल में रहते हुए भी 2007 में सुभाष ने पत्रकारिता में डिप्लोमा किया जबकि 2010 कर्नाटक राज्य मुक्त विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में ही एमए किया.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top