Cricket

युवराज सिंह ले सकते हैं किसी भी वक्त अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास, बीसीसीआई के सामने रखी ये शर्त

Yuvraj Singh

Yuvraj Singh Retirement: 2007 टी-20 विश्व कप और 2011 विश्व कप में टीम इंडिया की जीत में अमह भूमिका निभाने वाले दुनिया के दिग्गज खिलाड़ियों की सूची में शुमार युवराज सिंह शायद अब खुद इस बात को अच्छी तरह से समझ गए है कि उनका टीम इंडिया में वापसी करना न के बराबर है.

2019 विश्व कप की टीम से बाहर होने के बाद युवराज को आईपीएल 12 के शुरुआत कुछ मुकाबलों के बाद ही मुंबई इंडियंस ने बाहर का रास्ता दिखा दिया था.

जिसके बाद से ही इस बात के संकेत मिल गए थे कि अब जल्द एक और भारतीय हीरा क्रिकेट को अलविदा कहने जा रहा है. युवराज ने भी अब सन्यास लेने का मन बना ही लिया है.

यह भी पढ़ें:  विश्वकप 2019: भारतीय टीम को बड़ा झटका, सलामी बल्लेबाज शिखर धवन हुए बाहर

युवराज अब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर छोड़ फ्रीलेंस क्रिकेट खेलना चाहते है. जिसके लिए ही उन्होनें सन्यास लेने का मन बनाया है. आप सोच रहें होंगे की फ्रीलेंस क्रिकेट के लिए युवराज को सन्यास लेने की क्या जरूरत लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे.

कि आइसीसी द्वारा अप्रूव्ड टी20 लीग खेलने के लिए युवराज को घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहना होगा. इसके बाद ही बीसीसीआइ इन टी20 लीग्स में खेलने की इजाजत देगी.

युवराज का ये निर्णय साबित करता है कि अब इस बात का यकीन युवराज को भी हो गया है कि उनकी अंतर्राष्ट्रीय टीम में वापसी के सारे दरवाजे बंद हो चुके है.

यह भी पढ़ें:  ब्रेकिंग: वर्ल्ड कप 2019 से बाहर हुए शिखर धवन, विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को मिला मौका

युवराज के द्वारा की गई इस मांग को लेकर बीसीसीआई के सूत्रों से खबर भी आई है. बीसीसीआइ से जुड़े सूत्रों ने कहा है, “युवराज सिंह इंटरनेशनल और फर्स्ट क्लास क्रिकेट से संन्यास लेने के बारे में सोच रहे है.

युवराज सिंह के पास इस समय देश के लिए खेलने का कोई मौका नहीं है. लेकिन, उन्हें GT20(कनाडा), आयरलैंड के Euro T20 Slam और हॉलैंड की टी20 लीग से ऑफर आया है. लेकिन इसके लिए युवी को पहले बीसीसीआई ये परमिशन चाहिए होगी.

युवराज के करियर की बात करें तो उन्होनें भारत की तरफ से खेलते हुए 304 वनडे मुकाबलों में 33.92 की औसत से 8701 रन बनाए है. वनडे में युवी के नाम 14 शतक भी है.

यह भी पढ़ें:  Yuvraj Singh Retires: युवी ने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा, उनकी बेजोड़ कहानी पर एक नजर

इसके अलावा टी-20 क्रिकेट में भी युवराज के नाम 58 मैचों में 1177 रन दर्ज है. 2007 टी-20 विश्व कप में युवी टीम इंडिया के उप कप्तान थे. उस वर्ल्ड कप में युवराज इंग्लैंड के खिलाफ 6 गेंदों में 6 छक्के जड़ने वाले पहले भारतीय बने थे.

इसके अलावा 2011 विश्व कप में युवराज को मैन ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया था. युवराज ने 2011 विश्व कप के 9 मैचों में 90.50 की औसत से 362 रन बनाए थे. इसके अलावा उन्होनें 15 विकेट भी अपने नाम किए थे.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top