ऑस्ट्रेलिया में सबसे तेज 1000 टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज बने कोहली, तोड़ा ब्रैडमैन का 87 साल पुराना रिकॉर्ड

Umesh
Umesh December 9, 2018
Updated 2018/12/09 at 8:33 AM

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट में कोहली ने सर डॉन ब्रैडमैन के एक बड़े रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. आइये आपको इस रिकॉर्ड के बारे में बताते हैं.

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने एक बार फिर बता दिया है कि आखिर क्यों उन्हें इस सदी का सबसे बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट की दोनों पारियों में कोहली भले ही कुछ खास ना कर पाए हो लेकिन उन्होंने सर डॉन ब्रैडमैन के एक बड़े रिकॉर्ड को तोड़ दिया है.

विराट ऑस्ट्रेलिया में सबसे तेज़ 1000 टेस्ट रन पूरे करने वाले बल्लेबाज़ बन गए हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में नौवां टेस्ट खेलते हुए 1000 रन पूरे किए और ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज सर डॉन ब्रैडमेन को भी पीछे छोड़ दिया है.

तोड़ा ब्रैडमैन का 87 साल पुराना रिकॉर्ड

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज सर ब्रैडमेन ने साल 1931 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 10वें टेस्ट में ये विशाल उपलब्धि हासिल की थी. तब से आज तक इस रिकॉर्ड को कोई भी बल्लेबाज नहीं तोड़ पाया. लेकिन अब कोहली ने 87 साल बाद इस रिकॉर्ड को तोड़ा दिया है.

अपने घरेलु मैदानों पर खुद कंगारू बल्लेबाज भी इस कीर्तिमान को हासिल नहीं कर पाए थे. ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रिकी पॉन्टिंग, माइकल क्लार्क, मैथ्यू हेडन, एलेन बॉर्डर और स्टीव स्मिथ को ऑस्ट्रेलिया में 1000 रनों तक पहुंचने के लिए 10 से ज्यादा टेस्ट लगे थे.

कोहली ने दूसरी पारी में जैसे ही 8 रन बनाए, वो ऐसा करने वाले पहले क्रिकेटर बन गए. भारतीय कप्तान कोहली ने अब तक ऑस्‍ट्रेलिया में 5 शतकों के साथ 1000 से अधिक रन बना लिए हैं.

टेस्ट क्रिकेट में खूब चल रहा है विराट का बल्ला

पिछले कुछ सालों में कोहली एक अलग ही बल्लेबाज बनकर उभरे हैं. 2014 के बाद से कोहली टेस्ट क्रिकेट में अलग ही रंग में नजर आए हैं. अब तक खेले गए अपने 73 टेस्ट मैचों की 124 पारियों में विराट 6331 रन बना चुके हैं. अब तक विराट 24 शतक और 5 अर्धशतक लगा चुके हैं.

इस साल टेस्ट क्रिकेट में विराट के नाम ही सबसे ज्यादा रन दर्ज हैं. पिछले चार सालों से विराट सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वालों के मामले में हमेशा टॉप 3 बल्लेबाजों में रहे हैं. ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि आने वाले समय में उनका टेस्ट रिकॉर्ड और भी बेहतर हो सकता है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.