India News

Vandana Katariya Biography: वंदना कटारिया के भाई ने बताई बहन की संघर्ष की कहानी, पिता के अंतिम दर्शन नहीं कर पाई थी

Vandana Kataria Biography, Kaun Hai Caste, Tokyo Olympics Controversy 2020: टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम का प्रदर्शन अच्छा था, क्वार्टरफाइनल में साउथ अफ्रीका को हराने के बाद सेमीफाइनल में जगह तो बनाई लेकिन अर्जेंटीना के खिलाफ टीम को हार का सामना करना पड़ा और इसी के साथ भारत के पास कांस्य पदक ही आ पाया.

इस बीच उत्तराखंड के हरिद्वार की महिला हॉकी प्लेयर वंदना कटारिया (Vandana Katariya) के घर कुछ अराजक तत्वों ने बवाल कर दिया, उन्होंने टीम की हार की वजह अनुसूचित जाति के खिलाड़ियों को टीम में जगह देना बताया, घर के सामने पटाखे फोड़ कर उपद्रव मचाने का काम किया गया, हालांकि पुलिस ने इसमें तुरंत एक्शन लिया है, अब तक 2 की गिरफ्तारी हो चुकी है.

यह भी पढ़ें:  Swami Yatishwaranand: उत्तराखंड के ये मंत्री कोरोना को रखते हैं जूतों के नीचे, वायरल तस्वीर पर भड़के लोग

क्वार्टरफाइनल में लगाई थी हैट्रिक (Vandana Katariya Hat-trick)

एक तरफ जहां वंदना कटारिया देश की पहली खिलाड़ी बनी जिन्होंने ओलिंपिक के किसी मैच में हैट्रिक लगाई हो तो दूसरी तरफ दिल से स्वागत करने के बजाय उनके आस पास के लोगों ने उपद्रव मचा कर पूरी तरह महिला खिलाड़ी का मनोबल तोड़ डाला. यही वजह है कि भाई लखन कटारिया, मीडिया के सामने भावुक होते दिखे, वह काबिल बहन के बारे में बात करते हुए अपने आंसू नहीं रोक पाए.

लखन कटारिया कहते हैं उनकी बहन ने कड़ी मेहनत की है, पिता को ओलिंपिक में गोल्ड मेडल का वादा किया था, कैंप में व्यस्त रहने के कारण वह पिता के अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाई थी. पिता को किया वादा भले ही अभी पूरा नहीं हुआ हो लेकिन ब्रोंज लाना भी क्या इतना आसान है, भाई लखन कटारिया बताते हैं कि ओलिंपिक की तैयारी में वंदना इतनी लगी हुई थी कि पिता नाहर सिंह को आखिरी बार देखने तक नहीं आ पाई थी.

दलित होने की मिली सजा (Vandana Katariya Caste Controversy)

आरोप है कि वंदना के घर हरिद्वार के रोशनाबाद में कुछ लोगों ने परिवार के साथ गाली गलौच व जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया. सेमीफाइनल में मिली हार के बाद लोगों ने घर के पहले आतिशबाजी की जिसकी आवाज सुनकर परिवार के लोग घर के बाहर तो उनसे गाली गलौच करने लगे.

यह भी पढ़ें:  Uttarakhand: तीरथ सिंह रावत 114 दिन रहे प्रदेश के मुख्यमंत्री, काम से ज्यादा इन बयानों की वजह से रहे चर्चा में

हरिद्वार में हुई इस अप्रिय घटना की पूरे देशभर में निंदा हो रही है. सोशल मीडिया पर घटना की वीडियो वायरल हो रही है जिसमें लोग गुस्साए नजर आ रहे हैं, इसके आधार पर लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है. वंदना के भाई चंद्रशेखर कटारिया के शिकायत पर उत्तराखंड पुलिस कार्रवाई कर रही है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top