Mary Kom vs Nikhat Zareen: निखत जरीन को हराकर हाथ न मिलाने पर मेरी कोम ने दिया चौंकाने वाला बयान

JBT Staff
JBT Staff December 28, 2019
Updated 2019/12/28 at 2:36 PM

Mary Kom vs Nikhat Zareen: जूनियर वर्ल्ड चैंपियन निखत जरीन के लगातार चयन नीति पर सवाल उठाने के बाद नतीजा यह निकला कि उन्हें 6 बार वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियन बन चुकी मेरी कोम से मुकाबला लड़ना तय हुआ.

शनिवार को इस अहम मुकाबले में मेरी कोम (Mary Kom) ने निखत जरीन (Nikhat Zareen) को 9-1 से मात दे डाली, मुकाबला जीतने के बाद मेरी कोम ने निखत से हैंड शेक नहीं किया, जिसके बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए बयान दिया कि ‘मैं उसके साथ हाथ क्यों मिलाऊँ, अगर वह चाहती है कि दूसरे उसका सम्मान करें तो उसे पहले दूसरों का सम्मान करना चाहिए, मुझे ऐसे स्वभाव वाले लोग पसंद नहीं हैं. बस रिंग के अंदर अपनी बात साबित करें, बाहर नहीं‘.

अगले साल से होने वाले टोक्यो ओलिंपिक क्वालीफायर (Tokyo Olympic qualifier) के लिए शनिवार 28 दिसम्बर को ट्रायल्स के 51 किग्रा फाइनल में निखत का मुकाबला ऐतिहासिक प्लेयर मेरी कोम से हुआ. मुकाबले से पहले निखत ने कहा था, उनका मेरी कोम से कोई विवाद नहीं है बल्कि चयन नीतियों से नाराजगी है.

दोनों ने ही अपने पहले मुकाबले में जीत हांसिल की थी, मेरी कॉम ने रितु ग्रेवाल को मात दी जबकि निखत जरीन ने ज्योति गुलिया को करारी शिकस्त दी थी. जरीन ने कुछ ही हफ्ते पहले भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के चयन नीतियों के बारे में सवाल उठाए थे, व मेरी कोम के खिलाफ मुकाबले की मांग की थी. साथ ही मेरी कोम ने एसोसिएशन की नीति का पालन किया और मुकाबला तय हुआ.

आपको बता दें एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह एक सम्मान समारोह में घोषणा कर दी थी कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार अच्छे प्रदर्शन के चलते मेरी कोम को बिना ट्रायल्स के ही ओलिंपिक क्वालीफायर के लिए चयन किया जाएगा.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.