Cricket

आईपीएल के सामने कहीं नहीं टिकता पीएसएल, यकीन नहीं होता तो इन आंकड़ों को देख लीजिए

आईपीएल दुनिया की सबसे बड़ी टी-20 क्रिकेट लीग है. इसी की तर्ज पर कई देशीं ने टी-20 लीग्स शुरू की. पाकिस्तान ने भी भारत की देखा-देखी में पीएसएल (पाकिस्तान सुपर लीग ) की शुरुआत की.

भारत और पाकिस्तान के बीच मतभेद किसी से छिपे नहीं है. इन दोनों देशों के बीच की जंग सिर्फ सीमा पर ही नहीं बल्कि क्रिकेट के मैदान पर भी हमेशा से चर्चा का विषय रही है. कुछ आपसी कारणों की वजह से आज दोनों देश एक-दूसरे के साथ कोई सीरीज नहीं खेलते. भारत ने तो आईपीएल में भी पाकिस्तान के खिलाड़ियो के खेलने पर पाबंदी लगा रखी है.

यह भी पढ़ें:  IPL 2019: इन 4 युवा खिलाड़ियों ने किया उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन, पहले ने अपनी टीम को पंहुचाया टॉप पर

यही कारण है बौखलाए पाकिस्तान ने भारत को चुनौती देने के लिए पाकिस्तान प्रीमियर लीग की शुरुआत की. लेकिन पाकिस्तान शायद इस बात को भूल जाता है कि भारत के आगे वो अब भी कुछ नहीं है. ये बात हर जगह लागू होती है, फिर चाहे क्रिकेट लीग ही क्यों न हो.

पाकिस्तान की पीएसएल लीग आईपीएल के सामने कहीं खड़ी नजर नहीं आती. फिर चाहे जीतने वाली टीम की इनामी राशि की बात हो या फिर खिलाडियों की बेस प्राइज की. इस बात का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि आईपीएल के एक खिलाड़ी की कीमत पीएसएल की एक टीम के बराबर है.

यह भी पढ़ें:  IPL 2019 RR vs MI Match Preview: राजस्थान के लिए करो या मरो की स्थिति, मुंबई के पास हार का बदला लेने का मौका

कुछ ही समय पहले आईपीएल 2019 की नीलामी में जहां राजस्थान रॉयल्स ने जयदेव उनादकट को 8.40 करोड़ में खरीदा. जयदेव की कीमत इतनी थी की पीएसएल की एक पूरी टीम खरीदी जा सके. सिर्फ इतना बताने के लिए काफी है कि पाकिस्तान और भारत की टी-20 लीग में कितना बड़ा अंतर है.

इसके अलावा अगर आगे और बात करें तो आईपीएल के 12वें सीजन की नीलामी प्रक्रिया में 106.80 करोड़ की कीमत में 60 खिलाड़ियो को खरीदा गया. जिसमे उनादकट सबसे महंगे बिके. वहीं अगर पीएसएल की बात करें, तो एक पूरी टीम के पास 2019 के सीजन के लिए केवल 8.64 करोड़ का बजट था. जबकि आईपीएल में हर टीम के पास 80 करोड़ का बजट है. जो पीएसएल से करीब 10 गुना ज्यादा है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top