Cricket

India Vs NZ 2019: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में ये हैं टीम इंडिया की हार के 3 बड़े कारण

India Vs NZ 2019: न्यूजीलैण्ड के खिलाफ टीम इंडिया को पहले टी-20 मैच में शर्नाक हार का सामना करना पड़ा है. आइये इस हार के तीन मुख्य कारणों पर एक नजर डालते हैं.

भारत और न्यूजीलैंड के बीच वेलिंग्टन के मैदान पर खेले गए पहले टी-20 मुकाबले में टीम इंडिया को 80 रनों से हार का सामना करना पड़ा. पहले ही टी-20 में भारतीय टीम का बल्लेबाजी और गेंदबाजी क्रम बुरी तरह से फ्लॉप नजर आया.

टीम इंडिया के गेंदबाजों ने जमकर रन लुटाए, उसके बाद भारतीय बल्लेबाजी भी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई. नतीजा ये हुआ कि कीवी टीम ने 3 मैचों की टी-20 सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. आइये इस शर्मनाक हार के तीन मुख्य कारणों पर एक नजर डालते हैं.

यह भी पढ़ें:  इन 4 क्रिकेटर्स की पत्नियां भी है अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी, कोई है टेनिस स्टार तो कोई है स्टार बल्लेबाज

खिलाड़ियों का चयन

टॉस के बाद रोहित ने जब टीम की प्लेइंग 11 के बारे में बताया तो खिलाड़ियों के चयन को सुनकर हर कोई हैरान दिखा. टीम किसी भी तरह से बैलेंस नहीं लग रही थी. सबसे बड़ी बात ये रही कि टीम का गेंदबाजी अटैक काफी कमजोर दिखाई दिया.

कप्तान रोहित शर्मा ने कुलदीप यादव जैसे मैच विनर गेंदबाज को टीम की प्लेइंग 11 में जगह नहीं दी. वहीं केदार जाधव जैसे शानदार ऑलराउंडर खिलाड़ी को भी टीम में नहीं चुना गया.

धोनी को 3 नंबर पर ना भेजना

भारत की हार के बाद सबसे ज्यादा हार का कारण धोनी का बैटिंग ऑडर ही रहता है. धोनी 8.3 ओवर में ही क्रीज पर आए थे. उस समय भारत का स्कोर 4 विकेट पर 64 रन था. ऐसे में धोनी को भी टीम को हार से बाहर लाना काफी मुश्किल काम हो गया था.

यह भी पढ़ें:  India Vs NZ 2019 Second T20 Playing 11: दूसरे टी-20 में इन 11 खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतर सकती है टीम इंडिया

टीम मैनेजमेंट द्वारा सैट किए गए इस बैटिंग ऑर्डर की काफी आलोचना हो रही है. धोनी से पहले विजय शंकर और पंत को भेजना टीम इंडिया की हार के कारणों में से एक बना. अगर धोनी तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आते तो शायद टीम इंडिया की अप्रोच कुछ और हो सकती थी.

गेंदबाजों का फ्लॉप प्रदर्शन

पहले टी-20 मैच में हार का सबसे बड़ा कारण टीम इंडिया की गेंदबाजी रही. जिसकी वजह से बल्लेबाजों के ऊपर जरूरत से ज्यादा प्रेशर आ गया.

भारत को जीत के लिए 220 रनों का लक्षय मिला था जो किसी भी टीम के लिए इतना आसान नहीं होता. टीम के हर गेंदबाज ने जमकर रन लुटाए.

यह भी पढ़ें:  न्यूजीलैण्ड के खिलाफ तीसरे टी-20 में धोनी ने मैदान पर कदम रखते ही रचा इतिहास, ऐसा करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बने

हार्दिक पांड्या ने जहां अपने 4 ओवर में 51 रन खर्च किये. वहीं खलील अहमद ने अपने 4 ओवर में 48 रन दिए. भुवनेश्वर कुमार ने भी अपने 4 ओवर में 47 रन खर्च किये.

युजवेंद्र चहल ने अपने 4 ओवर में 35 रन खर्च कर डाले. क्रुनाल पांड्या भी महंगे साबित हुए और उन्होंने अपने 4 ओवर में 37 रन दिए.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top