Cricket

India Vs NZ 4th ODI: चौथे वनडे में टीम इंडिया के नाम दर्ज हुए ये 3 शर्मनाक रिकॉर्ड

India Vs NZ 4th ODI

India Vs NZ 4th ODI: चौथे वनडे में शर्मनाक हार के साथ भारत के नाम कई शर्मनाक रिकार्ड्स भी जुड़ गए हैं. आइये इन रिकार्ड्स पर एक नजर डालते हैं.

भारत और न्यूजीलैंड के बीच हैमिल्टन के मैदान पर खेले गए चौथे वनडे मुकाबले में टीम इंडिया को 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. इसके अलावा भारतीय क्रिकेट इतिहास में टीम इंडिया का ये सबसे खराब प्रदर्शन रहा. पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया 92 रनों पर ही ढ़ेर हो गयी.

जिसके बाद कीवी टीम ने ये लक्ष्य 14.4 ओवरों में 2 विकेट खोकर ही हासिल कर लिया. इस मैच के साथ ही कई रिकॉर्ड भी टीम इंडिया के नाम दर्ज हुए. आइए नजर डालते है उन रिकॉर्ड्स पर.

यह भी पढ़ें:  ICC T20 Ranking: टी-20 रैंकिंग में कुलदीप पहली बार दूसरे स्थान पर पहुंचे, कोहली टॉप 10 से बाहर

किसी भी टीम की भारत के खिलाफ सबसे बड़ी जीत

गेंदें शेष रहने के हिसाब से भारत के खिलाफ ये किसी भी टीम की सबसे बड़ी जीत रही. इससे पहले ये रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम था. जब 2010 में श्रीलंका ने भारत को दांबुला में 209 गेंदें शेष रहते हराया था. न्यूज़ीलैण्ड ने भारत को 212 गेंद शेष रहते ही हरा दिया. न्यूजीलैंड की धरती पर मिला ये दर्द भारतीय टीम को आने वाले कई सालों तक याद रहेगा.

कीवी धरती पर सबसे कम स्कोर

न्यूज़ीलैंड की धरती पर खेलते हुए भारतीय टीम का ये सबसे कम स्कोर रहा. इससे पहले टीम इंडिया 2003 में न्यूज़ीलैण्ड में सबसे कम स्कोर बनाया था. उस समय पूरी टीम 108 रनों पर सिमट गयी थी.

यह भी पढ़ें:  विश्व कप में भारत खेल सकता है मास्टर स्ट्रोक, बदल सकता है कोहली का बल्लेबाजी क्रम

बोल्ट का बेहतरीन प्रदर्शन

बोल्ट ने अपने 10 ओवरों की गेंदबाज़ी में 29 रन देकर 5 भारतीय बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया. इसी के साथ बोल्ट भारत के खिलाफ शेन बॉन्ड के बाद एक मैच में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे न्यूज़ीलैंड खिलाड़ी बन गए है. शेन बांड ने 2005 में भारत के खिलाफ बुलावायो में 19 रन देकर 6 विकेट हासिल किये थे.

वनडे क्रिकेट में टीम इंडिया का सबसे कम स्कोर

टीम इंडिया ने 92 रन बनाकर वनडे क्रिकेट में अपना 7वां सबसे कम स्कोर बनाया है. भारत ने साल 2000 में श्रीलंका के खिलाफ सबसे कम स्कोर बनाया था. उस समय टीम इंडिया 54 रन बनाकर ऑल-आउट हो गई थी.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top