India News

Ind vs Aus 3rd Test Draw: आश्विन-हनुमा की जोड़ी ने रचा इतिहास, दिग्गजों ने बांधे तारीफों के पुल

Ind vs Aus 3rd Test: रविंद्र जडेजा की चोट इतनी गंभीर है कि उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ खेले जाने वाले टेस्ट सीरीज के 2 शुरुवाती मैचों से बाहर कर दिया गया है, आज अगर उनकी जरूरत पड़ती तो वह दर्द का इंजेक्शन लगाकर खेलने वाले थे, ऐसे टाइम में आश्विन ने संकटमोचक का रोल अदा किया.

जैसे ही भारत ने 5 विकेट खोए, रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) की सबसे ज्यादा जरूरत यहां पर थी लेकिन चोट ध्यान में रखते हुए आर आश्विन को बैटिंग पर उतारा गया. सिर्फ बल्लेबाजों की बात करें तो हनुमा विहारी बचे थे और वह पूरी सीरीज की भांति यहां भी रनों के लिए संघर्ष करते हुए नजर आए, पुजारा 77 रनों का योगदान देकर जैसे ही पवेलियन लौटे, उनके साथ जीतने की उम्मीद भी चली गई.

टीम इंडिया के मौजूदा दौर के दिवार चेतेश्वर पुजारा को हेजलवुड ने बोल्ड मार डाला था, इसके बाद बतौर बल्लेबाज जडेजा को उतरना था लेकिन उनके लेफ्ट थंब पर चोट ज्यादा गंभीर है, आश्विन अगर आउट होते तो जडेजा की जरूरत पड़ती, सूझ बूझ के साथ दोनों ने अपना विकेट बचाया, 259 गेंदों में दोनों ने 62 रन जोड़े.

ऋषभ पंत (97) की पारी ने भारत को बढ़िया पोजीशन पर लाकर खड़ा किया था लेकिन वह इसे बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाए, जिसकी सबसे ज्यादा जरूरत इस वक्त थी. टॉप 5 के जाने के बाद फॉर्म में चल रहे जडेजा, हनुमा विहारी ही इस टेस्ट मैच को बचा सकते थे, गेंदबाजों की बात करें तो आश्विन के अलावा किसी से इस तरह की उम्मीद नहीं की जा सकती थी. आश्विन ने जसप्रीत बुमराह, नवदीप सैनी व मोहम्मद सिराज की बखूबी लाज बचाई.

इस मैच तो क्रिकेट फैंस असली टेस्ट मैच बता रहे हैं, इसका अंतिम दिन का रोमांच किसी टी2o मैच से कम नहीं था. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 338, दूसरी में 6 विकेट पर 312 पर पारी घोषित की, पहली पारी में सिर्फ 244 पर सिमटी इंडिया के लिए 407 रनों का पहाड़ था लेकिन पंत, पुजारा ने इसे भी मुमकिन बना ही दिया कि फिर ड्रा की उम्मीद कायम रही, जो हनुमा-आश्विन ने पूरी की. दिग्गजों की प्रसंशा.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top