Cricket

चार साल पहले आज ही के दिन हुई थी फिल ह्यूज की मौत, हिल गया था पूरा क्रिकेट जगत

Phil Hughes

4 साल पहले आज ही के दिन सिर पर एक बाउंसर लगने के चलते ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फिल ह्यूज की मौत हुई थी. इस खबर ने पूरे क्रिकेट जगत को पूरी तरह से हिला दिया था.

क्रिकेट को विश्व में सबसे लोकप्रिय खेल माना जाता है. इस खेल को पसंद करने वाले दुनिया के कोने-कोने में बसे हुए है. क्रिकेट के फैंस सिर्फ इस खेल को मनोरंजन की वजह से ही पसंद नहीं करते बल्कि उनकी भावना भी इस खेल से जुड़ी होती है. तभी तो जब भी कभी कोई अप्रिय घटना घटती है तो फेंस को भी सदमा लगता है.

क्रिकेट में छोटी-मोटी चोटें लगना आम बात होती है लेकिन कभी-कभी ये चोटे इतनी ज्यादा बड़ी होती है कि बीच मैदान पर ही खिलाड़ी की जान तक चली जाती है. आज ही के दिन 2014 में ऐसी ही एक घटना घटी थी, जिसने पुरे विश्व के क्रिकेट फैंस को गहरा सदमा पहुंचाया था.

आज ही के दिन ऑस्ट्रेलिया के 26 साल के क्रिकेटर फिल ह्यूज इस दुनिया को अलविदा कह गए थे. फ़िल की मौत को 4 साल बीत चुके है लेकिन आज भी इस युवा खिलाड़ी की यादें ऑस्ट्रेलिया की टीम के अलावा हर देश के खिलाड़ी के साथ जुड़ी हुई है. 27 नवंबर 2014 को ह्यूज ने अपने करियर की आखिरी पारी खेली थी और दुनिया को अलविदा कह कर चले गए थे.

इस तरह हुई थी बीच मैदान पर मौत

सिडनी में 25 नवंबर के दिन दक्षिण ऑस्ट्रेलिया और न्यू साउथ वेल्स के बीच टेस्ट मैच खेला जा रहा था. मैच में बल्लेबाजी के दौरान तेज गेंदबाज सीन एबॉट की एक शॉर्ट पिच गेंद ह्यूज के सिर पर लगी. चोट लगने के बाद ह्यूज मैदान में गिर पड़े. उन्हें तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया. चोट इतनी गहरी थी कि वह उसी समय कोमा में चले गए.

चोट लगने के दो दिन बाय यानि 27 नवम्बर 2014 को ह्यूज की मौत हो गई. जिस दौरान ह्यूज का इलाज चल रहा था, उस समय सिर्फ ऑस्ट्रेलिया ही नहीं बल्कि हर टीम उनके लिए दुआ कर रही थी लेकिन शायद भगवान को कुछ और ही मंजूर था.  फ़िल के जाने के बाद सबसे बड़ा धक्का एबोट को लगा. उसके बाद एबोट कभी अपनी पुरानी लय में गेंदबाज़ी नहीं कर पाए.

माइकल क्लार्क फूट-फूट कर रो पड़े

इस हादसे ने पूरे खेल जगत को हिला दिया था, अंतिम संस्कार में ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज क्रिकेटरों सहित तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई  प्रधानमंत्री टोनी एबोट भी ह्यूज को अंतिम विदाई देने पहुंचे थे. जब चोट लगी, तब ह्यूज 63 रनों पर बल्लेबाजी कर रहे थे. उन्हें 63 नॉट आउट फोरएवर पर ही विदाई दी गई.

ह्यूज  की इस तरह मौत से उनके दोस्त और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क को भी बड़ा धक्का लगा था. उनका कहना था, ‘मुझे अगला मैच नहीं खेलना चाहिए था. मेरा करियर वहीं पर थम जाना चाहिए था. मैं तब टूट चुका था. मैं लंबे समय तक उसकी मौत की वजह से सदमें में था. मैंने तब शोक नहीं जताया क्योंकि मुझे उसके परिवार को देखना था और इसके अलावा मैं ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान भी था.’

View this post on Instagram

I will see you again 🙏🏻

A post shared by Michael Clarke (@michaelclarkeofficial) on

ह्यूज की चौथी पुण्यतिथि पर क्लार्क ने उन्हें याद किया है. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर एक तस्वीर शेयर की है. इस पर उन्होंने लिखा है- ‘मैं तुम्हें फिर मिलूंगा दोस्त’

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top