Cricket

बुमराह ने अपने शानदार प्रदर्शन की वजह का किया खुलासा, ऐसे बने वर्ल्ड के बेस्ट बॉलर

virat and bumrah

भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह गजब फॉर्म में हैं. इस साल बुमराह ने 9 टेस्ट में 45 विकेट हासिल किये हैं. वहीँ टी-20 और वनडे क्रिकेट में भी उनका प्रदर्शन लाजवाब रहा है.

विदेशी पिचों पर किसी भी भारतीय तेज गेंदबाज को परिस्थितियों के अनुकूल खुद को ढालने में काफी मेहनत करनी पड़ती है लेकिन जितनी आसानी और कम समय में जसप्रीत बुमराह ने ये काम किया है,  वो तारीफ के काबिल है. साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड के बाद अब बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी शानदार प्रदर्शन करके खुद को विश्व क्रिकेट के सबसे शानदार गेंदबाजों में शामिल करा लिया है.

यह भी पढ़ें:  IPL 12 KKR vs SRH Match 38: कोलकाता की भिड़त हैदराबाद से, यहा देखें दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग इलेवन

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट में बुमराह ने पहली पारी में 6 विकेट हासिल किये और दूसरी पारी में भी अब तक दो विकेट कर लिए हैं. अब बुमराह ने अपने शानदार प्रदर्शन के पीछे की वजह का खुलासा किया है.

अपनी शानदार गेंदबाज पर बात करते हुए बुमराह ने कहा कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में धीमी पिचों पर रिवर्स स्विंग हासिल करने के अनुभव ने उन्हें यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एमसीजी की पिच पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके छह विकेट झटकने में मदद की.

बुमराह ने कहा जब मैं वहां गेंदबाजी कर रहा था, विकेट काफी धीमी हो गया था और गेंद मुलायम हो गई थी. मैंने धीमी गेंद फेंकने की कोशिश की. सोचा कि यह नीचे जाएगी या फिर शॉर्ट कवर पर जाएगी. यह कारगर रहा क्योंकि गेंद ने रिवर्स करना शुरू कर दिया था.

यह भी पढ़ें:  पूर्वी दिल्ली से BJP प्रत्याशी गौतम गंभीर की इनकम है इतने करोड़, दिल्ली के सबसे अमीर उम्मीद्वार हैं पूर्व क्रिकेटर

जब हम अपनी सरजमीं पर इसी तरह के विकेट पर खेलते थे तो गेंद रिवर्स होती है. इसलिए आप इसका पूरा फायदा उठाने की कोशिश करते हो. हम प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपने अनुभव का इस्तेमाल यहां करने की कोशिश कर रहे थे क्योंकि प्रथम श्रेणी क्रिकट में हमें रिवर्स स्विंग गेंद फेंकने का अच्छा अनुभव है.

बता दें कि बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट की पहली पारी में 33 रन देकर छह विकेट झटके. इसी के साथ वह उपमहाद्वीप से ऐसे पहले गेंदबाज बन गए, जिसने एक ही साल में दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट पारी में पांच या इससे ज्यादा विकेट हासिल किये हो.

यह भी पढ़ें:  9 साल बाद चेन्नई ने धोनी के बिना खेला कोई मुकाबला, जाने धोनी के बिना अब तक कैसा रहा इस टीम का प्रदर्शन

इस साल टेस्ट विकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में बुमराह चौथे स्थान पर हैं. बुमराह ने इस साल 9 टेस्ट में 45 विकेट हासिल किये हैं. इस दौरान उसका औसत 21.46 रहा है. साथ इस तीन बार बुमराह ने एक पारी में 5 या उससे ज्यादा विकेट हासिल किये हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top