Cricket

Ind Vs Aus: 100वां वनडे विकेट लेते ही भुवनेश्वर कुमार के नाम जुड़ा ये अनचाहा रिकॉर्ड

Bhuvaneshwar Kumar

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले गए पहले वनडे में टीम इंडिया के गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने अपने 100 विकेट पूरे कर लिए. हालांकि, 100 विकेट पूरे करते ही उनके नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड जुड़ गया.

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया पहला वनडे मैच मेजबान टीम ने 34 रन से जीत लिया. इस मैच में भारतीय टीम के लिए दो अच्छी बातें हुई. पहला ये कि टीम के ओपनर रोहित शर्मा ने शानदार शतक लगाया. दूसरा ये कि टीम के प्रमुख तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने वनडे क्रिकेट में 100 विकेट पूरे कर लिए.

भुवी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच को क्लीन बोल्ड करके यह उपलब्धि हासिल की. वनडे क्रिकेट में भारतीय टीम के इस प्रमुख तेज गेंदबाज ने 96 मैचों में 37.88 की औसत से 100 वन-डे पूरे किए. भुवी वनडे क्रिकेट में 100 विकेट लेने वाले 18वें भारतीय गेंदबाज हैं. भुवी से पहले श्रीनाथ, कपिल देव, अगरकर, ज़हीर खान, वेंकटेश प्रसाद सहित कई भारतीय तेज गेंदबाज ये उपलब्धि हासिल कर चुके हैं.

यह भी पढ़ें:  हार्दिक और राहुल वनडे टीम से बाहर, इन दो युवाओं की हुई टीम में एंट्री

हालांकि, 100 विकेट पूरे करते ही भुवी के नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड भी जुड़ गया है. भुवनेश्वर कुमार टीम इंडिया की तरफ से सबसे धीमे 100 वन-डे विकेट लेने वालों खिलाड़ियों में शामिल हो गए हैं.

इस लिस्ट की बात करें तो सौरव गांगुली ने 308 मैचों में अपने 100 विकेट पूरे किये थे. वहीँ मास्टर ब्लास्टर तेंदुलकर को ये रिकॉर्ड हासिल करने के लिए 268 मैच खेलने पड़े. स्टार ऑलराउंडर युवराज को 266 और रवि शास्त्री को 100 विकेट लेने के लिए 100 मैच खेलने पड़े थे. अगर प्रमुख तेज गेंदबाजों की बात करें, तो भुवी, वेंकटेश प्रसाद से पीछे रह गए हैं. प्रसाद ने 85 मैच में 100 विकेट पूरे किये थे.

यह भी पढ़ें:  Ind Vs Aus 3rd ODI: मेलबर्न वनडे में ये 4 रिकॉर्ड्स तोड़ सकते है टीम इंडिया के खिलाड़ी

308             सौरव गांगुली
268             सचिन तेंदुलकर
266              युवराज सिंह
100              रवि शास्त्री
96              भुवनेश्वर कुमार
85              वेंकटेश प्रसाद/रवींद्र जडेजा

भुवी वनडे क्रिकेट में टीम इंडिया के प्रमुख गेंदबाजों में से एक हैं. हालांकि, उनके रिकार्ड्स कुछ और ही कहानी बयां करते हैं. इसमें भी कोई दोराय नहीं कि पिछले कुछ सालों में भुवी के प्रदर्शन में लगातार सुधार हुआ है. अब देखना ये है कि ये गेंदबाज आने वाले दिनों में कैसा प्रदर्शन करता है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top