वर्ल्ड कप से पहले भारतीय टीम के सामने खड़ी हैं ये 3 बड़ी समस्याएँ

JBT Staff
JBT Staff February 2, 2019
Updated 2019/02/02 at 3:58 PM

World Cup 2019: विश्वकप शुरू होने में अब कुछ ही महीने बाकी हैं. टीम इंडिया वर्ल्ड कप के लिए तैयार लग रही है लेकिन ऐसी तीन समस्याएँ हैं जो आज भी भारतीय टीम के सामने खड़ी हुई हैं.

मौजूदा समय में टीम इंडिया विश्व की सबसे बेहतरीन क्रिकेट टीम मानी जा रही है. एशिया कप जीतने के बाद से ही भारत ने अपने सामने किसी को टिकने नहीं दिया.

टीम इंडिया ने पहले ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज, फिर वनडे सीरीज और अब न्यूजीलैंड में भी वनडे सीरीज जीत कर इतिहास रच दिया है.

इस समय भारत के पास रोहित, कोहली, धोनी, बुमराह और भूवी जैसे खिलाड़ी है, जो इस टीम को विश्व कप 2019 का प्रबल दावेदार बनाते हैं. हालांकि, भारत के लिए अब भी कुछ समस्याएं बनी हुई है, जो आगे जाकर मुश्किल खड़ी कर सकती हैं.

नंबर 4 पर कौन खेलेगा

नंबर 4 पर कौन बल्लेबाजी करेगा ये अब तक तय नहीं हो पाया है. धोनी इस पोजीशन पर शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन उन्हें इस नंबर पर टीम मैनेजमेंट बैटिंग नहीं करवाना चाहता.

रायडू का रिकॉर्ड इतना अच्छा नहीं है कि उन्हें एक बल्लेबाज के रूप में खिलाया जाए. हाल ही में उनकी गेंदबाजी पर बैन लगा दिया गया है.

के एल राहुल की फॉर्म उनके साथ नहीं है. मनीष पाण्डे भी आउट ऑफ फॉर्म हैं. ऐसे में भारत के लिए नंबर 4 पर कौन बल्लेबाजी करेगा ये कहना बड़ा मुश्किल है.

ऑलराउंडर का चयन

किसी भी टीम की जीत में ऑलराउंडर की अहम भूमिका होती है. भारतीय टीम के पास इस समय हार्दिक और जड़ेजा के तौर पर एक तेज गेंदबाज और एक स्पिन गेंदबाज ऑलराउंडर का विकल्प है. लेकिन अब समस्या ये है दोनों खिलाड़ियों में से किसको प्लेइंग इलेवन में मौका दिया जाए.

पांड्या भारतीय टीम को बैलेंस देते हैं. वहीँ दूसरी तरफ जड़ेजा भी भारत के लिए कई मौकों पर संकटमोचक साबित हुए है. साथ ही उनसे बेहतर फील्डर टीम में शायद ही कोई हो.

अगर जडेजा को टीम में शामिल किया जाता है तो कुलदीप या चहल में से किसी को बाहर बैठना पड़ेगा. ऐसे में हार्दिक और जड़ेजा का चयन टीम मैनेजमेंट के सामने बड़ी चुनौती होगा.

चौथे तेज गेंदबाज़ की खोज

ये समस्या भारत के लिए विश्व कप से पहले सबसे बड़ी चिंता का विषय है. पिछले काफी समय से बुमराह और भुवनेश्वर कुमार ने अपनी शानदार गेंदबाज़ी से बाकी तेज गेंदबाजों की कमी खलने नहीं दी.

लेकिन विश्व कप के लिए 4 गेंदबाजों को इंग्लैंड लेकर जाना भी जरुरी है. तेज पिचों पर कई मैचों में 4 तेज गेंदबाज भी उतारने पड़ सकते हैं.

भूवी और बुमराह के बाद शमी तो टीम में अपनी जगह पक्की कर चुके है लेकिन अब देखना होगा कि सिराज, खलील, और उमेश यादव में से किस पर टीम मैनेजमेंट अपना दांव खेलती है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.