Religion

Ganesh Puja: भगवान श्री गणेश की पूजा करने की विधि, मंत्र व इसके महत्व जानिए

Shree Ganesh: बुधवार के दिन श्री गणेश की विशेष मंत्रों से पूजा अत्यंत फलदायी मानी गई है, विघ्न और संकटों से बचाकर जीवन के हर सपने व मनवांछित कार्य सिद्ध करने वाली मानी गयी है.

हिन्दू संस्कृति और पूजा में भगवान श्रीगणेश जी को सर्वश्रेष्ठ स्थान दिया गया है, प्रत्येक शुभ कार्य में सबसे पहले भगवान गणेश पूजा अनिवार्य बताई गई है, देवता भी अपने कार्यों को बिना किसी विघ्न से पूरा करने के लिए गणेश जी की सर्वप्रथम पूजा अर्चना करते हैं, ऐसा इसलिए है क्योंकि देवगणों ने स्वयं उनकी अग्रपूजा का विधान बनाया है.

सनातन एवं हिन्दू शास्त्रों में भगवान गणेश जी को, विघ्नहर्ता अर्थात सभी तरह की परेशानियों को खत्म करने वाला बताया गया है, पुराणों में गणेशजी की भक्ति पूजा करने से सारे ग्रहदोष दूर करने वाली भी बताई गई हैं, बुधवार के शुभ दिन गणेशजी की उपासना से व्यक्ति का सुख-सौभाग्य बढ़ता है, और सभी तरह की रुकावटे दूर होती हैं.

गणेश भगवान की पूजा विधि

प्रात: काल स्नान ध्यान आदि से सुद्ध होकर सर्व प्रथम ताम्र पत्र के श्री गणेश यन्त्र को साफमिट्टी, नमक, निम्बू से अच्छे से साफ करें, पूजा स्थल पर पूर्व या उत्तर दिशा की और मुख कर के आसान पर विराजमान हो कर सामने श्री गणेश यन्त्र की स्थापना करें, शुद्ध आसन में बैठकर सभी पूजन सामग्री को एकत्रित कर पुष्प, धूप, दीप, कपूर, रोली, मौली लाल, चंदन, मोदक आदि गणेश भगवान को समर्पित कर, इनकी आरती की जाती है, अंत में भगवान गणेश जी का स्मरण कर “ओम गं गणपतये नम:” 108 नाम मंत्र का जाप करना चाहिए.

हर बुधवार इन मंत्रों से करें गणेश जी की पूजा:

सुबह सूर्योदय से पहले जागें और स्नान करें, घर या देवालय में पीले वस्त्र पहन श्री गणेश की पूजा सिंदूर, दूर्वा, गंध, अक्षत, अबीर, गुलाल, सुंगधित फूल, जनेऊ, सुपारी, पान, मौसमी फल व भोग में लड्डू अर्पित करें.

पूजा के बाद पीले आसन पर बैठ श्री गणेश मंत्र से पूजन संपन्न करें.

गणेश गायत्री मंत्र – ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात।।

मंत्र का महत्व – यह गणेश गायत्री मंत्र है, इस मंत्र का 11 दिन शांत मन से 108 बार जप करने से गणेशजी की विशिष्ट कृपा होती है, गणेश गायत्री मंत्र के जप से व्यक्ति का भाग्य चमक जाता है और हर कार्य अनुकूल सिद्ध होने लगता है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top