कौन हैं कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार, जिसके लिए खुद सीएम ममता बैठ गयी धरने पर

JBT Staff
JBT Staff February 4, 2019
Updated 2019/02/04 at 6:02 PM

Who is IPS Rajiv Kumar: जब 40 सदस्यी सीबीआई टीम कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची तो उनसे चिटफंड घोटाले मामले में पूछताछ होने लगी लेकिन उनपर आरोप है कि उनहोंने सीबीआई के सवालों का सही से जवाब नहीं दिया.

मामला यहाँ तक बढ़ गया कि सीबीआई और राजीव कुमार के बीच हाथापाई भी हो गयी. जिसके बाद पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई ने हिरासत में ले लिया था, हालाँकि कुछ ही समय में रिहा भी कर दिया था.

इस पूरे मामले के बाद चौंकाने वाली खबर ये थी कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी खुद पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के समर्थन में आकर आधी रात धरने पर बैठ गयी.

वेस्ट बंगाल की वर्तमान सीएम व दिग्गज कांग्रेसी नेता ममता बनर्जी ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर कर भाजपा और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर खूब हमला बोला.

अब बात आती है आखिर क्यों ममता इतनी बौखलाई और कौन हैं जिनके लिए रातभर ममता जी सो भी नहीं पायी?

आईपीएस ऑफिसर राजीव कुमार 1989 बैच के यूपी कैडर अधिकारी हैं.

आईपीएस अधिकारी बनने के बाद राजीव कुमार चंदौसी से पश्चिम बंगाल शिफ्ट हो गए और पश्चिम बंगाल पुलिस में कोलकाता कमिश्नर के पद पर तैनात हैं, यही वजह रही होगी कि वह ममता बनर्जी के बहुत करीबी हैं.

उत्तर प्रदेश के चंदौसी में उनके पिताजी कॉलेज प्रोफेसर थे, चंदौसी में ही उनका परिवार रहता है. यहाँ एसएम कॉलेज से पढ़ाई पूरी करने के बाद IPS की परीक्षा में सफलता हासिल की थी.

सीबीआई और पुलिस के बीच की इस जंग ने कोलकाता को हिला के रख दिया है. सीबीआई का मानना है की राजीव सारदा चिटफंड घोटाला 2013 में राज्य सरकार द्वारा गठित एसआईटी के प्रमुख थे, और उनके खिलाफ जांच के दौरान गड़बड़ी के गंभीर आरोप हैं.

कई दिगज्ज नेता ममता के पक्ष में आए हैं..

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.