UP: नई जनसंख्या नीति पर नेताओं के बयान, कोई बोला कुदरत से टकराना गलत तो कोई बोला चुनावी स्टंट है

JBT Staff
JBT Staff July 12, 2021
Updated 2021/07/12 at 5:04 PM

UP Population Policy: बीते रविवार उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नीति 2021-2030 जारी हो चुकी है, सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसे जारी करते हुए कुछ अहम बातें कही, उनका कहना है जनसंख्या नियंत्रण सामाज की भलाई के लिए बहुत जरुरी है.

उत्तर प्रदेश में लागू होने वाले इस विशेष कानून के प्रति देशभर से प्रतिक्रिया सुनने को मिल रही है, जैसा कि उत्तर प्रदेश में इस वक्त विधानसभा चुनाव को मुद्दा बनाते हुए समाजवादी पार्टी का कोई नेता तो नई जनसंख्या नीति के समर्थन में बोलने को राजी नहीं. प्रदेश के संभल से सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क (Dr. Shafiqur Rahman Barq) ने तो इसे सरासर कुदरत के खिलाफ बता डाला.

मीडिया को प्रतिक्रिया देते हुए वह कहते हैं ‘योगी जी, मोदी जी व मोहन भागवत की बात की जाए तो इनके बच्चे नहीं हैं, इनकी शादी नहीं है. अब सारे मुल्क को बच्चे पैदा नहीं करने दोगे तो कल को किसी जंग में मुकाबले के लिए लोग कहां से आएंगे’. कुरान शरीफ का हवाला देते हुए कहते हैं, अल्लाह ने दुनिया बनाई है, जितनी रूहें पैदा हुई हैं वो आनी हैं, रोक लगाने से कुछ नहीं होगा.

कांग्रेस के दिग्गज नेता सलामन खुर्शीद (Salman Khurshid) इस बिल पर भड़कते हुए कहते हैं, सरकार पहले अपने मंत्रियों के बच्चों की संख्या बताए कि उनके कितने जायज व कितने नाजायज बच्चे हैं. सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा कहते हैं इस बिल को लाना मतलब लोकतंत्र की हत्या, यूपी सरकार का यह एक अपरिपक्व फैसला है.

समाजवादी पार्टी के एक और सांसद एसटी हसन ने प्रतिक्रिया दी है कि यह एक चुनावी स्टंट है, नई जनसंख्या नीति हिंदू-मुस्लिम विवाद को आग देगी और फिर इससे फायदा उठाने की कोशिश होगी. वहीं बिल के समर्थन में भी कई बड़े नेता बात कर रहे हैं, नेशनल कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता शरद पवार कहते हैं देश की बेहतरी के लिए जरुरी है, हर किसी को इसमें योगदान देना चाहिए.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.