UP Panchayat Election 2021: प्रधानी हांसिल करने के लिए त्यागा ब्रह्मचारी जीवन, आरक्षित सीट से पत्नी लड़ेगी चुनाव

JBT Staff
JBT Staff April 1, 2021
Updated 2021/04/01 at 1:47 PM

UP Panchayat Election 2021: बहुत जल्द उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव होने जा रहे हैं, कई इलाकों में महिला आरक्षित सीटें कर दी गई हैं. ऐसे में कोई व्यक्ति पिछले कई सालों से अपनी जनता की सेवा में लगा हो और बतौर ग्राम प्रधान सेवा को जारी रखना चाह रहा हो तो उसके लिए दुविधा हो जाएगी.

अधिकतर केस में तो शादीशुदा शख्स चुनाव लड़ते हैं, महिला आरक्षित सीट आने पर पत्नी या घर की महिला के लिए चुनावी मैदान में उतर जाते हैं लेकिन कोई व्यक्ति आजीवन शादी न करने का प्रण कर लिया हो तो क्या किया जाए. ऐसा ही कुछ हुआ है उत्तर प्रदेश के बलिया ग्रामसभा में, यहां हाथी सिंह (Hathi Singh) नाम के एक शख्स ने अचानक 45 की उम्र में शादी का मन बनाया क्योंकि उसे गांव की प्रधानी में दिलचस्पी थी.

यूं तो शादी का कोई मुहूर्त भी नहीं था लेकिन चुनाव बहुत नजदीक हैं इसलिए हाथी सिंह के पास कोई विकल्प नहीं रहा और उन्होंने बिना मुहूर्त के शादी करने का फैसला किया, उनका कहना है पिछले पांच सालों से वह अपने इलाके की जनता की सेवा में लगे हैं, महिला सीट की घोषणा होने के बाद चाहने वाले लोगों का ही सुझाव था कि उनके लिए शादी कर लें और फिर पत्नी को चुनावी मेदार में उतार लें.

हाथी सिंह इसलिए भी दुविधा में घिर गए थे क्योंकि घर में महिला के नाम पर मां हैं जो 80 की उम्र पार कर चुकी हैं, यही वजह है कि उन्होंने 45 की उम्र में शादी का फैसला किया, 26 मार्च को वह शादी के बंधन में बंधे, उनका कहना है खरमास में शादी तो नहीं करनी थी लेकिन 13 अप्रैल को नामांकन से शादी करनी भी जरुरी थी.

हाथी सिंह बताते हैं वह अपनी जनता की सेवा करना चाहते हैं, पिछली बार भी उन्होंने चुनावी मैदान में लक आजमाया था लेकिन कुछ वोटों से पीछे रह गए, दूसरी पोजीशन पर रहे थे.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.