Unnao: उन्नाव रेप पीड़िता का वीडियो फैलने के बाद कुलदीप सेंगर के सहयोगी का टिकट कटा, घंटेभर में बीजेपी ने उठाया कदम

JBT Staff
JBT Staff June 25, 2021
Updated 2021/06/25 at 1:45 PM

Unnao: साल 2017 का बहुचर्चित रेप केस पीड़िता के हिम्मत को सलाम जो किसी भी मोड़ पर पीछे नहीं हटती है, वह कहती है जान को खतरा है लेकिन अपने दोषियों के खिलाफ बोलने के लिए हमेशा ठोस कदम उठाती है. जिले में जैसे ही उसे पता चला कि पूर्व विधायक कुलदीप के करीबी को टिकट मिल रहा है तो उसने तुंरत वीडियो जारी किया.

उन्नाव जिले से कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) नाम का कलंक ही बीजेपी पर ऐसा है कि पार्टी को तुरंत इसपर अमल करना पड़ा जी हां वीडियो फैलने के घंटेभर के अंदर जिला पंचायत अध्यक्ष पद के उम्मीदवार अरुण सिंह (Arun Singh) का नाम वापस लिया गया जबकि सकून सिंह जो पूर्व एमएलसी दिवंगत अजीत सिंह की पत्नी हैं को सौंपा गया.

आपको बता दें इससे पहले भी पार्टी द्वारा लाज बचाने वाले फैसले लिए गए हैं, अप्रैल में कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ऐश्वर्या सेंगर (Aishwarya Sengar) द्वारा भावुक पोस्ट किया गया था, वह पूछती हैं कि उसका व उसकी मां की क्या गलती है, कुलदीप की पत्नी सुनीता सेंगर ने जिला पंचायत सदस्य का नामांकन भरा था जिसे पार्टी द्वारा रद्द कर दिया गया था.

पीड़िता के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद अब जिला पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी अरुण सिंह का टिकट काटा गया है, उसका कहना है अरुन सिंह उसके दोषी कुलदीप का सहयोगी है, पिता को जेल में साजिशन मारने में भी वह शामिल था. पीड़िता ने इसका देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खत लिखकर विरोध जताया है.

बता दें चार बार विधायक रने कुलदीप सिंह सेंगर इस वक्त रेप केस व पीड़िता एक पिता के मर्डर चार्ज में उम्र कैद की सजा काट रहे हैं, धीरे-धीरे आरोप सही साबित होने पर 2019 में पार्टी ने भी उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था, विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी गई थी.

https://twitter.com/Faizal_Peraje/status/1408126763788500996

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.