Politics

प्रताप सारंगी को क्यों कहा जाता है ओडिशा का मोदी, जानिए उनसे जुड़ी दिलचस्प बातें

Interesting facts about Pratap Chandra Sarangi: मोदी सरकार 2019 में राज्यमंत्री बने प्रताप चन्द्र सारंगी ने खूब प्रशंसा बटोरी, उनकी सादगी के लोग कायल हो गए और हर कोई उनके बारे में जानने के लिए उत्सुक है.

मौजूदा सरकार में वह एक ऐसे सांसद है जिन्होंने ऑटो से अपना प्रचार किया था, जिनकी संपत्ति मात्र 13 लाख है. 30 मई को जब ऐसे समाज सेवक ने अपने पद और गोपनीयता की शपथ ली तो राष्ट्रपति भवन दिल्ली का प्रांगण तालियों से गूज उठा, गृहमंत्री अमित शाह की तालियों ने रुकने का नाम नहीं लिया.

प्रधानमंत्री मोदी ने प्रताप चन्द्र सारंगी को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम के साथ पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन व‍िभाग सौंपा. इस बड़े पद की उन्हें भनक तक नहीं थी, न ही ऐसी कोई उम्मीद. यहाँ तक कि BJP के पूर्व अध्यक्ष व वर्तमान गृहमंत्री अमित शाह कॉल करते रहे लेकिन साइलेंट होने की वजह से वह कॉल नहीं पिक कर पाए.

बालासोर के सांसद प्रताप चन्द्र सारंगी पहली बार सांसद बने जबकि 2 बार विधायक रह चुके हैं. 30 मई 2019 के ऐतिहासिक दिन में उनके अहम रोल से सम्बंधित कॉल उन्हें जाता रहा लेकिन साइलेंट होने की वजह वह उठा नहीं पाए.

किसी अन्य के माध्यम से उन्हें सन्देश पहुंचा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उन्हें मंत्री पद की शपथ लेने के लिए कॉल कर रहे हैं, आप कॉल क्यों पिक नहीं कर रहे. फाइनली अमित शाह से बात हुई तो वह हैरान हो गये, उन्हें धर्मेंद्र प्रधान के साथ पहुंचना है.

आपको बता दें 2004 में BJP की तरफ से वह निलागिरी विधानसभा से जीते लेकिन 2009 में टिकेट न मिलने पर निर्दलीय लड़े और जीत हासिल की.

अपने क्षेत्र में साइकिल से ही वह सफर करते हैं और जरुरी काम भी इसी में सवार होकर निपटाते हैं. सारंगी RSS से भी जुड़े हैं, लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने उन्हें अपना प्रत्याशी चुना.

बालासोर लोकसभा सीट से उन्होंने बीजेडी के रबिन्द्र कुमार जेना को 12,956 वोटों हराया, यहाँ रबिन्द्र पिछली बार के सांसद थे.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top