Pragya Thakur Statement: गोडसे भक्त प्रज्ञा ठाकुर को महंगा पड़ा बयान, बीजेपी ने की निंदा व डिफेंस कमेटी से निकाली गईं

JBT Staff
JBT Staff November 28, 2019
Updated 2019/11/30 at 3:45 PM

Pragya Thakur Statement: विवादित सांसद प्रज्ञा ठाकुर का बयान उन्हें भारी पड़ रहा है, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक उन्हें मई 2019 में इस बात के लिए हिदायत दे चुके थे लेकिन उनका प्यार महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के प्रति कहीं न कहीं झलक पड़ता है.

इस साल लोकसभा चुनाव से पहले, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Sadhvi Pragya Thakur) को दंगे कराने के आरोपी बताते हुए जनता ने उनके चुनाव लड़ने पर सवाल खड़े किए थे. इसी दौरान दिग्गज एक्टर कमल हसन ने बयान दिया कि देश का पहला आतंकी एक हिन्दू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था.

इस पर साध्वी ने पलटवार करते हुए गोडसे को एक देशभक्त करार दिया था, जिसके कुछ दिन बाद पीएम मोदी की प्रतिक्रिया आई थी कि बापू के खिलाफ बोलने वालों को वह कभी माफ नहीं करेंगे. लेकिन साध्वी अपने विचारों को व्यक्त करने में फिर बाज नहीं आई, हाल ही में एसपीजी अमेंडमेंट बिल पर मीटिंग के दौरान DMK सांसद ए. राजा, गोडसे के एक बयान का जिक्र कर बता रहे थे कि उसने महात्मा गांधी को क्यों मारा.

तुरंत साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) उन्हें टोकती है और कहती हैं वह एक देशभक्त का उदाहरण इस तरह नहीं दे सकते हैं. प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी को याद दियाला कि बापू की 150 जयंती धूमधाम से मानाने वाले पीएम को क्या ये विचार पसंद हैं. इसके अलावा भी इस बयान पर खूब बवाल मचा है.

बीजेपी के जेपी नड्डा ने इस बयान की निंदा की और कहा उनकी पार्टी ऐसी विचारधारा का समर्थन नहीं करती है. संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर सख्त रुख अपनाया है उन्होंने साध्वी को रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से बाहर का रास्ता दिखाया है. बार बार बीजेपी के विपरीत विचारों को बोलने के जुर्म में उनके खिलाफ और भी कार्रवाई होने की आशंका है.

Share this Article
1 Comment
  • कभी कभी कटु सत्य को कही नहीं जाती तब तक जब तक समय अनुकुल न हो।फिर जो बात उन्होंने कही उस में पूर्ण सत्यता स्थापित हो भी नही सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.