Politics

BJP नेत्री प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे को देशभक्त कहने पर मांगी माफी, पार्टी के नेताओं ने जताई थी असहमति

Pragya Thakur apologies for calling Godse a Deshbhakt: दिग्गज अभिनेता कमल हासन के बयान ने खूब विवाद खड़े किए, जवाब में प्रज्ञा ठाकुर आगे आई तो उन्हें खुद पार्टी के बड़े नेताओं ने कोसना शुरू कर दिया.

मध्यप्रदेश के भोपाल से बीजेपी लोकसभा सीट प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur),पार्टी की विवादित कैंडिडेट हैं. वह मालेगांव धमाके की मुख्य आरोपी हैं.

उनके चुनाव लड़ने पर विपक्ष ने तो बवाल खड़ा किया ही है साथ ही मालेगांव धमाके के पीड़ित परिवारों में से भी सवाल खड़े हुए हैं. ऐसे में किसी बयान से सुर्खियों में आना साध्वी को महंगा पड़ सकता है.

एक्टर व मक्कल निधि मैय्यम (MNM) चीफ कमल हासन ने 13 मई को रैली में एक बयान देते हुए कहा कि आजाद भारत का पहला आतंकी एक हिन्दू था जिसका नाम नाथूराम गोडसे था.

यह भी पढ़ें:  PM मोदी 2015 में चीनी सोशल मीडिया Weibo से जुड़े थे, VIP अकाउंट को डिलीट करने की प्रक्रिया शुरू

कमल हासन अपने बयान पर डटे हैं जबकि उनकी रैलियों पर काफी हमले भी हो रहे हैं, उनका कहना है सब धर्मों में आतंकी हैं, सिर्फ मुस्लिम धर्म में ही नहीं. मीडिया से बात करते हुए साध्वी ने कमल हासन को जवाब देना चाह लेकिन यह बयान उन्हें महंगा पड़ा.

पहले उन्होंने कहा कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे बयान पर सियासत तेज हुई, खुद पार्टी के नेताओं ने इसे बीजेपी की विचारधारा से उल्टा बताया.

जिसके बाद साध्वी ने माफि मांगी और कहा महात्मा गांधी का बलिदान अतुलनीय है. साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का कहना है उन्होंने यह बयान किसी को ठेस पहुँचाने के लिए नहीं दिया यह उनका व्यक्तिगत बयान था.

यह भी पढ़ें:  Rahul Gandhi: मोदी सरकार पर राहुल का तंज 'हारवर्ड में होगा नोटबंदी, GST, कोविड-19 की असफलता पर अध्ययन'

बीजेपी के नेताओं ने प्रज्ञा के बयान को गलत बताया, माफी के लिए कहा:

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top