India News

Nepal: नेपाल पीएम ओली ने भारत के खिलाफ उगला जहर, कोरोना को भी कहा ‘इंडियन वायरस’

KP Sharma Oli: नेपाल के प्रधानमंत्री इस वक्त भारत के खिलाफ कड़े रुख में नजर आ रहे हैं, उन्होंने न सिर्फ कालापानी, लिंपियाधुरा, लिपुलेख पर भारत का कब्जा बताया बल्कि नेपाल में फैल रहे कोरोना संक्रमण का जिम्मेदार भी भारत को करार दिया.

हैरानी की बात तब हुई जब उन्होंने वायरस फैलने के मामले में भारत की तुलना इटली (Italy) और चीन (China) से कर दी, उन्होंने कहा भारत से आए लोगों में कोरोना के लक्षण बहुत ज्यादा दिखाई दे रहे हैं जबकि इटली और चीन से आए लोगों में कम है. भारत सरकार के खिलाफ उनकी कड़वी बातों से सियासत गरमाती हुई दिख रही है.

यह भी पढ़ें:  Mansukh Mandaviya: 49 वर्षीय युवा स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया खराब अंग्रेजी के कारण ट्रोल, समर्थकों ने किया डिफेंड

बताया जा रहा है नेपाल पीएम केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) की ये सारी बयानबाजी राजनीति का हिस्सा है, जी हां उन्होंने बीते दिनों राजनीतिक पार्टी और संवैधानिक परिषद से जुड़ा एक अध्यादेश जारी किया, विपक्षी पार्टियों ने इसके खिलाफ भारी आवाज उठाई तो मात्र 5 दिन के अंदर ही उन्होंने यह अध्यादेश वापस ले लिया.

इस तरह अध्यादेश जारी करना और फिर उसे वापस लेने से उनकी सियासत पर सवाल खड़े होने लगे, यहां तक कि उनकी ताकत भी कमजोर पड़ती नजर आ रही है. अंदाजा लगाया जा रहा है ऐसे माहौल में वह राष्ट्रवाद के मुद्दे को सामने ला रहे हैं, जाहिर सी बात है वह अब भारत विरोधी कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने कोरोना वायरस को भी ‘भारतीय वायरस’ करार दे दिया.

यह भी पढ़ें:  Dilip Kumar: राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर युवा नेताओं ने दिलीप कुमार के लिए लिखी दिल छूने वाली बात, पढ़िए टॉप ट्वीट्स

नेपाल ने अपने नए नक्शे में लिंपियाधुरा, कालापानी, लिपुलेख क्षेत्र को शामिल किया है, जबकि ये इलाके भारत में हैं और भारतीय फौज यहां तैनात है. वहीं नेपाल के कुछ दिग्गज नेताओं ने ओली की बयानबाजी पर जवाब देने से इंकार कर दिया है, बात साफ है उन्हें भी समझ आ गया है कि ओली अपनी जमीनी पकड़ फिर से मजबूत करने के लिए राष्ट्रवाद के मुद्दे का सहारा ले रहे हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top