India News

Mukhtar Ansari: पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का भतीजा है मुख्तार अंसारी, दादा-नाना रहे बड़े राजनेता व ब्रिगेडियर

Mukhtar Ansari: देश के नामी परिवार से आने के बाद भी मुख्तार अंसारी का जुर्म से नाता रहा, जिसकी सजा वह पिछले 17 सालों से जेल में काट रहा है. योगी पुलिस ने उसके दर्जनों गुर्गों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि उसके लिए हर दिन बद्दतर साबित हो रहा है.

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath), प्रदेश में इस साल होने वाले पंचायत चुनाव व अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए किसी भी तरह की ढील नहीं दे रहे हैं, योगी सरकार ने पूर्वांचल के बदनाम विधायक को अपने निगरानी में रखने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था, पंजाब के रूपनगर जेल से उसे उत्तर प्रदेश के बांदा शिफ्ट कर दिया गया.

यह भी पढ़ें:  Uttar Pradesh: चलती कार में रेप की घटना को दिया अंजाम, ग्राम प्रधान उम्मीदवार है आरोपी की मां

इस बीच पत्नी को फर्जी मुठभेड़ का डर सताने लगा था, पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में पति को सुरक्षा देने की याचिका दाखिल की थी, आखिरकार बुलेट प्रूफ जैकेट आदि के साथ मुख्तार को बांदा जेल लाया गया है. लोग ये जानकर हैरान हैं आखिर कैसे एक रसूखदार परिवार से ताल्लुक रखने वाला शख्स जुर्म की दुनिया में कदम रख लेता है.

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद में मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) का जन्म 30 जून 1963 में हुआ था, पिता सुब्हानउल्लाह अंसारी कम्युनिस्ट नेता थे जबकि दादा डॉ. मुख्तार अहमद अंसारी, स्वत्रंता संग्राम आंदोलन के दौरान, 1926-27 कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे थे, नाना महावीर चक्र विजेता ब्रिगेडियर उस्मान थे.

यह भी पढ़ें:  Uttarakhand: सीएम तीरथ के बयान पर फिर मचा बवाल, मरकज और कुंभ में कोरोना को लेकर दिया तर्क

आज तक की रिपोर्ट का कहना है पूर्व उपराष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी (Mohammad Hamid Ansari) भी मुख्तार के रिश्ते में चाचा लगते हैं, बड़े भाई अफजल अंसारी गाजीपुर से विधायक हैं. वहीं मुख्तार का जुर्म से इतना बड़ा नाता है कि पिछले 3 चुनाव वह जेल से ही लड़ा है, साल 2017 में योगी सरकार आने के बाद इस हिस्ट्रीशीटर नेता के लिए सत्ता में दमखम दिखाना आसान नहीं हो रहा है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top