Politics

ममता बनर्जी मीम (Meme): BJP नेता प्रियंका शर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया फैसला, सशर्त जमानत मिली

Mamata Banerjee Meme Controversy: इन्टरनेट और सोशल मीडिया के इस दौर में फेमस सेलिब्रिटीज और नेताओं पर मीम (Meme) बनना आम बात है, लेकिन युवा बीजेपी नेत्री प्रियंका शर्मा ने यह कभी नहीं सोचा होगा कि इस बात के लिए उन्हें जेल भी जाना पड़ सकता है.

ट्रेंडिंग समाचारों के साथ फोटो एडिटिंग कर या कोई कमेंट लिखकर आजकल यूजर्स अपने ह्यूमर (Humor) का इस्तमाल करते हैं, इस तरह के सोशल मीडिया पोस्ट्स को मीम (Meme) कहा जाता है.

पिछले हफ्ते (10 May), पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मीम शेयर करना हावड़ा की एक युवती को भारी पड़ गया. तृणमूल नेता बिश्वास चंद्र हाजरा ने युवती के खिलाफ केस दर्ज किया तो तुरंत उसकी गिरफ्तारी हो गयी.

यह भी पढ़ें:  सिद्धू बोले थे अमेठी से कांग्रेस हारी तो राजनीति छोड़ दूंगा, सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल

अगले ही दिन हावड़ा की स्थानीय अदालत ने प्रियंका को 14 दिन के लिए कस्टडी में लिया, उनपर मानहानि धारा 500 व सूचना प्रौद्योगिकी कानून के आधार पर केस बना दिया.

स्थानीय अदालतों में 14 मई तक पूर्ण हड़ताल है, अतः प्रियंका शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दर्ज कर जल्द जमानत की मांग की है, SC ने आज मंगलवार को सुनवाई का फैसला भी लिया और प्रियंका को सशर्त जमानत दी:

आज उनकी माँ राज कुमारी शर्मा ने मीडिया से बात की:

कौन है मीम पोस्ट करने वाली लड़की

यह भी पढ़ें:  Lok Sabha Election 2019 Phase 7: आजाद भारत का पहला वोटर पहुंचा बाजे गाजे के साथ, देखिए और भी वायरल तस्वीरें

पता चला कि मीम पोस्ट करने वाली युवती, बीजेपी यूथ विंग की नेता है और पीएम मोदी की सपोर्टर है जिसका नाम प्रियंका शर्मा है, प्रियंका की माँ ने आरोप लगाया है कि बेवजह ही विरोधी पार्टी की होने पर प्रताड़ित कर रही है ममता सरकार.

फोटो में क्या था आपत्तिजनक

हाल ही में MET Gala 2019 के रेड कारपेट पर बॉलीवुड अभिनेत्रियों दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा ने जबरदस्त पोशाकों में जलवे बिखेरे थे, प्रियंका की तस्वीर को एडिट करते हुए चेहरे की जगह ममता बनर्जी का चेहरा लगाया गया.

बीजेपी के समर्थकों व नेताओं ने सोशल मीडिया पर प्रियंका की गिरफ्तारी को लेकर सवाल उठाये हैं. 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज देना, सोशल मीडिया यूजर्स को रास नहीं आया.

यह भी पढ़ें:  वाराणसी: पीएम मोदी के आस पास कोई नहीं, पिछली बार का भी रिकॉर्ड तोड़ा

इस फोटोशोप्ड तस्वीर में गलत सही का फैसला नहीं किया जा सकता है लेकिन इस तरह की तस्वीरें या कहें कई आपत्तिजनक मीम भी अन्य राजनेताओं पर वायरल होती हैं, पहली बार इतनी सख्ती देखने को मिली.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top