News

कश्मीर: घाटी में तनाव के माहौल, धारा 144 लागू व इन्टरनेट सेवाएं हुई बंद

Kahsmir Turmoil: कश्मीर में धारा 35ए को हटाने के लिए जहां एक तरफ देशभर से केंद्र सरकार के ऊपर प्रेशर बना हुआ है तो दूसरी तरफ यहां के बड़े राजनेताओं ने कसम खाई है कि मरने मिटने तक इसे नहीं हटने देंगे.

रात में राज्यपाल ने आपात बैठक बुलाई, पीडीपी नेता महबूबा मुफ़्ती और ओमर अब्दुल्ला को घरों में नजरबंद कर दिया गया है तो कई बड़े नेताओ को हिरासत में लिया गया है व कुछ को गिरफ्तार कर लिया गया है. कांग्रेस के उस्मान माजिद व माकपा नेता एम वाई तारीगामी ने बताया कि रविवार को उन्हें गिरफ्तार किया गया है.

यह भी पढ़ें:  Kanhaiya vs Amitabh Sinha: कन्हैया कुमार और बीजेपी नेता अमिताभ सिन्हा के बीच तीखी बहस, देखें विडियो

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दावा किया है कि पोलिटिकल पार्टीज ज्यादा कश्मीर में अशांति व अनावश्यक घबराहट फैला रहे हैं. रात में उन्होंने आपात बैठक बुलाई, मुख्य सचिव को पूरे घटना पर नजर रखने व लगातार रिपोर्ट देने को कहा गया है.

सोशल मीडिया पर देश के नागरिकों में तमाम जोश और आक्रोश देखने को मिल रहा है, हैशटैग कश्मीर पर फाइनल फाइट (#KashmirParFinalFight) को ट्रेंडिंग बना दिया गया है. बढ़ती नफरतों और नेगेटिविटी को देखते हुए मोबाइल इन्टरनेट सेवाएं बंद कर दी गयी हैं.

बीते रविवार को श्रीनगर में कश्मीर के पोलिटिकल पार्टीज की बैठक हुई जिसमें अहम मुद्दा 370 व 35ए से संबंधित होने वाली हलचल को लेकर बातें हुई. आज हालात ऐसे बने हुए हैं कि शिक्षण संस्थाओं में ताला लगा हुआ है व श्रीनगर में 144 लागू कर दी गयी है.

यह भी पढ़ें:  Viral: जब कोबरा निगल गया प्लास्टिक बोतल, दर्द से तड़प कर हुआ बुरा हाल

मोबाइल इन्टरनेट सेवाएं बंद कर दी गयी हैं लेकिन प्रमुख अधिकारीयों को सैटेलाइट फोन इस्तेमाल के लिए दिए गए हैं. तनावपूर्ण माहौल बढ़ते देख कर यह फैसला लिया गया है, 35ए को हटाने को लेकर सबसे ज्यादा भड़के महबूबा व ओमर अब्दुल्ला को घर से न निकलने के लिए कहा गया है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top