Politics

नेशनल हेराल्ड केस में गांधी परिवार की मुश्किलें बढ़ी, दिल्ली हाई कोर्ट ने याचिका की खारिज

नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनीया गांधी की मुश्लिकें कम होने का नाम नहीं ले रही है. हाल ही में बीजेपी की नेता स्मृति इरानी ने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा था. जिसके बाद अब इस मामले से जुड़े आयकर दस्तावेंजो की दोबारा जांच पर रोक लगाने से हाईकोर्ट ने पूरी तरह से इंकार कर दिया है. दरसल कांग्रेस सरकार ने इस मामले को लेकर याचिका दायर की थी जिसके खिलाफ ही कोर्ट ने अपने ये फैसला सुनाया है. कोर्ट ने इस याचिका को खारिज तो किया ही साथ ही राहुल गांधी को फटकार लगाते हुए कहा है कि आयकर विभाग को टैक्स प्रक्रिया की दोबारा जांच करने का अधिकार है. अगर याचिकाकर्ताओं को कोई शिकायत है तो इसके लिए वे विभाग के पास जा सकते है.

यह भी पढ़ें:  The Accidental Prime Minister 1st Day Collection: अनुपम खेर की फिल्म ने की अच्छी शुरुवात

यह भी पढ़े: राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में नहीं हुई राम मंदिर पर चर्चा

हालांकि अभी भी कोर्ट ने आयकर विभाग से यही कहा है कि जब तक इस मामले पर कोई फैसला नहीं आ जाता तब तक आयकार विभाग कोई भी कार्यवाही ना करें. इसका मतलब कि अभी भी राहुल गांधी को इस मामले पर कुछ करने के लिए थोड़ा बहुत समय और मिल सकता है.

यह भी पढ़ें: अटल विकास यात्रा विज्ञापनों में नहीं दिखी अटल की तस्वीरें

हाल ही में स्मृति इरानी ने भी इस मामले पर प्रैस कॉन्फ्रेंस कर के गांधी परिवार पर जमकर निशाना साधा था. स्मृति इरानी ने राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्होनें लोगों के टैक्स के साथ खिलवाड़ किया है.स्मृति ने कहा कि ‘कांग्रेस पर गिरा पर्दा उठ गया। रघुराम राजन का बयान स्पष्ट करता है कि बढ़ी हुई एनपीए के लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार है.

यह भी पढ़ें:  बीजेपी के लिए बड़ा झटका, चुनावी तैयारियों के बीच अमित शाह को हुआ स्वाइन फ्लू

यह भी पढ़ें: सर्वे मोदी आज भी हैं भारतीयों की पसंद

गौरतलब है कि राहुल गांधी और सोनिया गंधी पर आरोप है था कि 2010 में यंग इंडिया लि. नाम से कंपनी बनाई और पंडित नेहरू द्वारा स्थापित एसोसिएट्स जर्नल लिमिटेड की संपत्तियों को अधिग्रहित कर लिया. ये आरोप किसी और ने नहीं बल्की बीजेपी के नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने लगाया था. इसी आधार पर आयकर विभाग ने गांधी परिवार के खिलाफ कार्यवाही शुरु की थी. कार्यवाही करने के बाद पता चला कि बंद हो चुके नेशनल हेराल्ड अखबार का प्रकाशन करने वाली एजेएल के शेयरों के लेनदेन से गांधी परिवार को करीब 1300 करोड़ रुपए का फायदा हुआ. बता दें कि ये सब यंग इंडिया के शेयर खरीदने के बाद किया गया.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top