Politics

बेगूसराय लोकसभा सीट 2019 रिजल्ट: गिरिराज सिंह आगे, कन्हैया कुमार पर भारी पड़ी मोदी लहर

Begusarai Lok Sabha Seat 2019: देशभर में इस लोकसभा सीट के सबसे ज्यादा चर्चे  रहे, वजह है जेएनयू  (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार.

कन्हैया को सीपीआई (CPI) ने अपना उम्मीद्वार चुना, बॉलीवुड से प्रकाश राज, जावेद अख्तर, शबाना आजमी व स्वारा भास्कर जैसे बड़े नाम उनके लिए मैदान में उतरे लेकिन परिणाम उम्मीदों से एकदम उलट हैं.

बिहार के बेगूसराय में इस बार बीजेपी नहीं सीपीआई उम्मीद्वार के ज्यादा चर्चे थे लेकिन परिणाम ये हैं कि गिरिराज सिंह बहुत आगे निकल चुके हैं, उन्होंने 90 हजार से ज्यादा वोटों से बढ़त बना ली है.

गिरिराज सिंह पिछली बार नवादा से चुनाव लड़े थे और जीत हासिल की थी, अतः बेगुसराई के लोगों के लिए दोनों ही प्रत्याशी नए थे लेकिन पीएम मोदी की लहर ने फिर एक बार देशभर में झंडे गाड़ दिए हैं.

यह भी पढ़ें:  SP सांसद शफीकुर्रहमान ने शपथ के बाद वंदे मातरम कहने से कर दिया इनकार, जानिए वजह

कन्हैया व गिरिराज के अलावा ये हैं उम्मीद्वार

NDA से गिरिराज सिंह, CPI से कन्हैया कुमार तो RJD ने पिछले चुनाव के प्रत्याशी तनवीर हसन को कमान सौंपी, उन्होंने लोकसभा 2014 में BJP के भोलासिंह को बड़ी चुनौती दी थी.

बेगुसराई लोकसभा सीट का पुराना इतिहास

अगर बात की जाए दबदबे की तो इस सीट पर पिछले कुछ समय से जेडीयू का अच्छा रिकॉर्ड रहा है लेकिन पिछली बार बीजेपी के भोला ने तनवीर हसन को शिखस्त दी थी, हालाँकि यह टक्कर कांटे की रही थी.

2004 और 2009 की संसदीय सीटों पर JDU का कब्जा रहा, जेडीयू के राजीव रंजन सिंह और मोनाजीर हसन ने उस वक्त दावेदारी हासिल की थी लेकिन उस वक्त जेडीयू भाजपा का हिस्सा भी था.

यह भी पढ़ें:  मुलायम सिंह यादव की तबियत फिर खराब, गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल के ICU में भर्ती

1967 में सीपीआई के उम्मीद योगेंद्र शर्मा, फिर लगातार कांग्रेस का दबदबा रहा, 1996 सीपीआई आई जिसके बाद कांग्रेस ने कभी जीत का स्वाद नहीं चखा. इस बार भी पलड़ा बीजेपी और सीपीआई का ही नजर आ रहा है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top