Politics

संघ प्रमुख मोहन भागवत से मिले अमित शाह, राम मंदिर निर्माण मुद्दे पर हुई 1 घंटे चर्चा

सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम मंदिर मुद्दे पर सुनवाई अगले साल तक टालने के बाद राजनीति गरमा गई है. इस बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शर और संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मुलाकात की है.

राम मंदिर मुद्दे को लेकर अब भाजपा सरकार की मुश्किलें बढ़ती जा रही है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मुद्दे की सुनवाई अगले साल तक टालने के बाद राजनीतिक माहौल पूरी तरह से गर्मा गया है. राष्ट्रीय सेवक संघ और विश्व हिंदू परिषद राम मंदिर के लिए सरकार से अध्यादेश लाने की मांग कर रहे है.

इस मुद्दे पर सियासी पेंच फंसता देख पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने भी हाल ही में आरएसएस प्रमुख से राम मंदिर निर्माण को लेकर मुलाकात भी की. कहा जा रहा है कि इस मुलाकात के बाद आरएसएस ने साफ तौर पर कहा है कि राममंदिर निर्माण के लिए सरकार जल्द कोई बिल लाए और मंदिर बनने का रास्ता साफ करे.

यह भी पढ़ें:  राहुल गांधी पर मोदी ने ली चुटकी, कहा- उनकी पिन अटक गई है, आप लोग बस मजे लीजिए

सूत्रों की माने तो अमित शाह और मोहन भागवत के बीच ये बैठक गोपनीय तरीके से एक बंद कमरे में हुई थी. भागवत और शाह के बीच यह मुलाकात करीब एक घंटे से ज्यादा चलने की खबर है.

बता दें कि विजयदशमी के दिन भी मोहन भागवत ने बीजेपी से राम मंदिर निर्माण पर जल्द एक अध्यादेश लाने का आह्वान किया था. जिसका विश्व हिंदू परिषद और बाकि संगठनो से समर्थन भी किया था. यही कारण रहा कि अमित शाह भी अब इस मुद्दे पर खुलकर अपनी राय दे रहे है.

हाल ही में अमित शाह ने एक बयान में कहा कि उनकी इच्छा है कि राम मंदिर का निर्माण 2019 से शुरू हो जाए. साथ ही शाह ने कहा कि हमें इस बात को नहीं भूलना चाहिए कि 600 साल पहले अयोध्या में राम मंदिर को गिराया गया था.

यह भी पढ़ें:  अयोध्या में जल्द बन सकती है 151 मीटर लंबी राम मूर्ति, योगी आदित्यनाथ दे सकते हैं बड़ी सौगात

उधर इस मुद्दे पर संघ और भाजपा के रवैये को देखते हुए कांग्रेस कह चुकी है कि सभी पक्षों को न्यायालय के आदेश का पालन करना चाहिए. वहीं संघ और दूसरे संगठनो के कड़े रवैये को देखते अब ऐसा ही लग रहा है भाजपा राम मंदिर मुद्दे पर अध्यादेश लाने के मामले पर जल्द सुनवाई कर सकती है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top