वाराणसी: पीएम मोदी के आस पास कोई नहीं, पिछली बार का भी रिकॉर्ड तोड़ा

JBT Staff
JBT Staff May 24, 2019
Updated 2019/05/24 at 9:50 AM

Varanasi Lok Sabha Seat 2019: पूरे देशभर में  फिर एक बार मोदी लहर है, ऐसे में पीएम मोदी अपनी खुद की सीट वाराणसी से कैसे पीछे रह जाते.

कांग्रेस ने पहले प्रियंका गांधी को यहाँ का जिम्मा सौंपने का विचार बनाया था लेकिन कांग्रेस ने पुनः अजय राय को कमान सौंपी और वह फिर नाकामयाब रहे.

479505 वोटों से जीते नरेंद्र मोदी, पिछली बार वह 3 लाख वोटों से जीते थे जबकि दूसरे नम्बर पर अरविन्द केजरीवाल रहे थे, तीसरे पायदान पर रहे थे अजय राय.

अजय राय के बारे में आपको बताते हैं, वह राजनीति में लम्बे समय से सक्रीय हैं कॉलेज के दिनों से ही वह BJP के सपोर्टर रहे, फिर 1996 में पार्टी के जाने पहचाने नाम तो बने ही, साथ ही BJP से विधायक का चुनाव भी लड़े.

पोलिटिकल करियर की शुरुवात उनके लिए दमदार रही, 1996 उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव लड़े और जीत हांसिल की. साल 2009 में उन्होंने समाजवादी पार्टी का दामन थामा तो हार का मुंह देखना पड़ा.

2012 में यह दबंग पॉलिटिशियन कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गया, वाराणसी से विधायक का चुनाव लड़ा तो जीत भी नसीब हुई लेकिन जैसे ही लोकसभा चुनाव 2014 में मोदी लहर से सामना हुआ तो वह बुरी तरह हार गए थे.

आपको बता दें 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी का इतना जबरदस्त क्रेज था कि वह 3 लाख के बड़े अंतर से जीते थे, दूसरे नम्बर पर केजरीवाल जबकि तीसरे पर अजय राय थे.

पिछली बार भी राय को मात्र 75 हजार वोट पड़े, लेकिन कांग्रेस ने उनपर पुनः भरोसा जताया था लेकिन मोदी लहर के सामने उन्होंने घुटने टेक दिए. आपको बता दें इससे पहले उनके नाम की किसी ने भी कल्पना नहीं की थी क्योंकि प्रियंका गांधी का नाम चर्चाओं में था.

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी व सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका  गांधी जबसे राजनीति में उतरी तबसे अफवाह थी कि वह मोदी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगी और उन्हें कड़ी टक्कर देंगी, एक बार के लिए ऐसा होता तो शायद मामला क्लोज हो सकता था.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.