India News

Coronavirus: कोरोना ने कांग्रेस के 2 दिग्गज नेताओं की ली जान, तरुण गगोई के बाद अहमद पटेल ने हारी जंग

Coronavirus: कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता अहमद पटेल के चले जाने से पार्टी में शोक की लहर है. गांधी परिवार के करीबी व ऑस्कर फर्नांडिस व अरुण सिंह के साथ अमर अकबर एंथनी कहे जाने वाले 71 वर्षीय लीडर ने दिल्ली के गुडगाँव में किसी अस्पताल में दम तोड़ दिया.

अहमद पटेल (Ahmed Patel) के बेटे फैसल पटेल ने ट्विटर पर खबर की पुष्टि की, उन्होंने पिता के निधन के बाद देश की जनता को गुजारिश की कोरोना काल में सरकार के नियमों का पालन करें, सोशल डिस्टेंसिंग को मेन्टेन रखें साथ ही किसी आयोजन में जाने से बचें.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने भी अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया है, लिखते हैं ‘अहमद पटेल के निधन से दुःख पहुंचा है, उन्होंने पूरी लाइफ बेहतर समाज की सेवा में लगाई. वह अपने तेज दिमाग के लिए जाने जाते थे, उन्होंने कांग्रेस को मजबूती में ढाला जो कभी नहीं भूला जा सकता’.

यह भी पढ़ें:  Uttarakhand: प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के अमर्यादित बयान पर CM ने मांगी माफी, अभद्र भाषा पर घिरी बीजेपी

वहीं कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने अहमद पटेल के निधन पर शोक जताते हुए लिखा ‘मैंने एक सहयोगी को खो दिया, विश्वस्त सहयोगी व दोस्त को खोने का गहरा दुःख है’. कल ही कांग्रेस के एक और कद्दावर नेता तरुण गोगोई (Tarun Gogoi) ने दम तोड़ दिया था, असम में तीन बार लगातार मुख्यमंत्री रहे गोगोई ने भी कोरोना से जंग मात खा ली.

84 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाले तरुण गोगोई के नाम असम राज्य के सबसे लंबे वक्त तक सीएम बनने का रिकॉर्ड है, 2001 से लेकर 2016 तक लगातार उन्होंने असम में मुख्यमंत्री पद का कारोबार संभाला था. हालांकि वह लम्बे समय से बीमार चल रहे थे लेकिन खबरों की मानें तो वह कोरोना की चपेट में भी आ गए थे.

यह भी पढ़ें:  Sonu Sood in Legal Trouble: कंगना के बाद सोनू सूद के खिलाफ बीएमसी ने दर्ज किया अवैध निर्माण का केस

नरेंद्र मोदी ने तरुण गोगोई के निधन पर सोशल मीडिया पर शोक जताते हुए लिखा ‘तरुण गोगोई जी बेहद लोकप्रिय नेता थे, जिनके पास असम व केंद्र में कई सालों का अनुभव था’.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top