Kanpur: मोस्ट वांटेड विकास दुबे पर इनामी राशि 10 गुना बढ़ी, फरीदाबाद के होटल से भी हुआ फरार

JBT Staff
JBT Staff July 8, 2020
Updated 2020/07/08 at 2:13 PM

Kanpur Encounter: अपराधी विकास दुबे को गायब हुए 1 हफ्ता होने जा रहा है लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ कोई भी सुराग नहीं लगा है, इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने लंबे वक्त से किसी बड़े शैतान को राज्य में पनाह दी थी.

50 हजार से 5 लाख हुई इनामी राशि

जहां पहले दिन इस मोस्ट वांटेड हिस्ट्रीशीटर पर 50 हजार का इनाम रखा था वह आज बढ़कर 5 लाख हो चुका है, भले ही पुलिस को अभी तक विकास के ठिकाने का पता नहीं लगा हो लेकिन जिस तरह से टीमें गठित हो चुकी हैं, रेलवे स्टेशनों, बस स्टेशनों, टोल बूथों व शहर के सभी पब्लिक जगहों पर पोस्टर चास्पाए गए हैं, उससे साफ होता है योगी सरकार विकास दुबे को किसी भी कीमत पर बहुत जल्द ढूंढ निकालेगी.

करीबी अमर दुबे को पुलिस ने मार गिराया

फरीदाबाद के किसी होटल की CCTV फुटेज इस वक्त वायरल हो रही हैं, विकास दुबे यहां से लापता हो चुका है, वहीं उसका दाहिना हाथ व सबसे करीबी शख्स अमर दुबे (Amar Dubey) को हमीरपुर के मौदाहा में ढेर कर दिया है जबकि श्यामू बाजपेई को पांव में गोली लगी है, उससे पूछताछ की जाएगी.

बिकरू गांव में पुलिस द्वारा विकास दुबे और उसके आदमियों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है, अभी तक जो भी मामले सामने आ रहे हैं वह भयानक हैं और माफ करने योग्य तो बिलकुल भी नहीं हैं.

3 पुलिसकर्मी निलंबित

जहां 8 इमानदार पुलिस वाले इस खूंखार अपराधी को दबोचने में शहीद हो गए थे तो वहीं कुछ पुलिस वाले साथीयों के मौत की छानबीन में फुर्ती नहीं दिखा रहे हैं, इसके चलते अभी तक 3 पुलिसकर्मीयों को सस्पेंड किया गया है. कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने मीडिया को इस बात की जानकारी दी कि उपनिरीक्षक कुंवर पाल, उपनिरीक्षक कृष्ण कुमार शर्मा व आरक्षी राजीव को निलंबित कर दिया गया है.

पुलिस की टीम विकास दुबे को उसके अवैध कब्जे के घर से उठाने वाली थी, हर पल की खबर से उसे कोई इन्फॉर्म कर रहा था. इसकी जांच भी अभी चल ही रही है, जबकि चौबेपुर थानाध्यक्ष विनय तिवारी को इस मामले के चलते पहले ही निलंबित कर दिया गया है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.