Bikru Kand: विकास दुबे की पत्नी ने सीएम योगी से मांगी इच्छा मृत्यु, एक साल में जिंदगी नर्क हो गई

JBT Staff
JBT Staff July 2, 2021
Updated 2021/07/02 at 8:34 AM

Bikru Kand: उत्तर प्रदेश के कानपुर के बिकरू गांव में घटी भयावह रात को आज एक साल होने जा रहा है, मुख्य आरोपी विकास दुबे आठ दिन बाद 10 जुलाई 2020 में पुलिस मुठभेड़ में मारा तो गया लेकिन 8 पुलिस वालों को जसी बेरहमी से मारा गया था उसका दर्द उनके परिवार वालों से ज्यादा कोई नहीं समझ सकता है.

विकास दुबे (Vikas Dubey) के जितने भी गुर्गे इस काण्ड में शामिल थे सभी को पुलिस ने एक के बाद एक हवालात में डाला है, आधे दर्जन से ज्यादा गुर्गों का एनकाउंटर हो चुका है, शायद यह आज के समय का सबसे बड़ा एनकाउंटर मुद्दा रहा होगा जहां गाड़ी पलटना भी एक रहस्य माना जाता है.

विकास दुबे ने योगी पुलिस के नाम में दम किया था, आज उसके किए की सजा परिवार में सभी भुगत रहे हैं. पत्नी ऋचा दुबे, मीडिया के सामने आकर अपनी लाचारी की बात कहती है, उसका कहना है दो वक्त की रोटी का इंतजाम करना बड़ा मुश्किल हो रहा है, पिछले एक साल से उनका जीना हर तरफ से दुश्वार हुआ है, उनसे सब कुछ छीना जा रहा है.

वह चाहती है कि पति विकास दुबे का डेथ सर्टिफिकेट बने ताकि उसकी बीमाओं का लाभ लेकर अपने व बच्चों का पेट पाल सके. मदद के लिए वह दफ्तरों में जाती है लेकिन सुबह से शाम बैठाने के बाद कहा जाता है कि आपको यहां नहीं वहां जाना पड़ेगा, जिंदगी से तंग आ चुकी विकास दुबे की पत्नी इच्छा मृत्यु के लिए तक गुहार लगा चुकी है.

ऋचा का कहना है गांव में विकास के बूढ़े मां-बाप 90 की उम्र पार कर चुके हैं, उन्हें भी लाचारी का सामना करना पड़ रहा है. उत्तर प्रदेश का यह बहुचर्चित मामला 10 जुलाई को शांत हुआ था जब कानपुर के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश ले जाया जा रहा था.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.