Vikas Dubey: कोरोना टेस्ट के बाद होगा पोस्टमार्टम, प्रियंका गांधी ने एनकाउंटर पर उठाए सवाल

JBT Staff
JBT Staff July 10, 2020
Updated 2020/07/10 at 12:38 PM

Vikas Dubey: 90 के दशक से विकास दुबे क्राइम की दुनिया में दहशत का नाम बना हुआ है, जाहिर सी बात है पुलिस और सियासत के लोगों ने उसे शरण दी थी. 60 अपराधिक मामलों का खूंखार जिम्मेदार विकास दुबे शुरुवाती दिनों में ही कानून के शिकंजे में आ जाता तो आज 8 परिवारों को मातम नहीं पड़ता.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ट्विटर पर सवाल उठाती हैं कि ‘अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको संरक्षण देने वालों का क्या‘. खैर ऐसा कह कर प्रियंका ने विपक्ष की भूमिका निभाई लेकिन सवाल जायज भी है, विकास दुबे (Vikas Dubey) और उसके गुर्गे पुलिस डिपार्टमेंट के करीबी थे, विकास को पहले से जानकारी थी उसपर पुलिस की कार्रवाई होने वाली है.

वहीं विकास दुबे के एनकाउंटर को पुलिस की स्क्रिप्ट बताया जा रहा है, लोगों का कहना है मध्यप्रदेश से उत्तर प्रदेश लाया जा रहा विकास आखिर कैसे पुलिस को चकमा देने की कोशिश करता है, कल उज्जैन में मंदिर के गार्ड के सामने तक तो वह भीगी बिल्ली बन जता है.

कानपुरा वाला गुंडा कानपुर में ही हुआ ढेर

2 जुलाई की देर रात 3 जुलाई की सुबह विकास दुबे भागने में सफल रहा, हरियाणा से सटे फरीदाबाद के किसी होटल में उसकी CCTV फुटेज देखी गई, यहां के बाद वह मध्यप्रदेश के महाकाल मंदिर दर्शन करने पहुंचा था, इसे एक तरह का सरेंडर भी बताया जा रहा है.

9 जुलाई को उज्जैन में मिलना और अगले ही दिन उसके गढ़ में पहुंचते ही पुलिस की कार पलट जाती है. पुलिस ने गन छीन कर वह खेतों की तरफ भागने की कोशिश करता है लेकिन मारा जाता है. कानपुर हैलट अस्पताल उसकी बॉडी सील की गई, कोरोना टेस्ट के बाद उसका पोस्टमार्टम होना है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.