Uttrakhand: उत्तराखंड कोरोना मृत्यु दर के मामले में टॉप 10 राज्यों में, तीरथ सरकार के सामने बड़ी चुनौती

JBT Staff
JBT Staff May 11, 2021
Updated 2021/05/11 at 11:36 AM

Uttrakhand: उत्तर प्रदेश व बिहार जनसंख्या के मामले में टॉप 2 राज्य हैं लेकिन हिमालयी राज्य उत्तराखंड जिसकी जनसंख्या 1.12 करोड़ है, कोविड-19 से मरने वालों की संख्या के मामले में टॉप के राज्यों से उपर आ गया है.

कोरोना की दूसरी लहर ने पहाड़ी राज्य उत्तराखंड को बुरी तरह प्रभावित कर दिया, बढ़ते मृत्यु दर के बाद तीरथ सिंह रावत ने 11 अप्रैल से 18 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया है, संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए यह एक हफ्ता अच्छा कारगार साबित हो सकता है, पिछले 24 की बात करें तो 5600 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए थे.

यह मामले तब आए हैं जब अधिकतर लोग घर पर ही रह कर देख रेख कर रहे हैं, अस्पतालों में बेड नहीं हैं. कई लोग टेस्ट करवाने घरों से निकल रहे हैं लेकिन पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद भी किसी तरह की एहतियात नहीं बरती जार रही है, उन्हें घर पर क्वारंटीन होकर खुद ही ट्रीटमेंट की सलाह दी जा रही है.

हिन्दुस्तान रिपोर्ट की मानें तो उत्तराखंड में प्रति एक लाख पर 33 मौतें कोरोना से हो रही हैं, जबकि 24 करोड़ जनसंख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश में प्रति एक लाख पर मरने वालों की संख्या 8 है. आपको बता दें उत्तराखंड में ऑक्सीजन की कमी महसूस कर रहे मरीजों के लिए यह कोरोना काल, मुश्किल खड़ा कर सकता है, गांव-गांव तक पहुंच चुका यह वायरस तीरथ सरकार के लिए चुनौती खड़ा कर रहा है.

राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों को मिलाकर मृत्यु दर के मामले में  उत्तराखंड का नम्बर 9वें स्थान पर आ रहा है. जनसंख्या के मामले में दूसरे नंबर पर बिहार कोरोना से मरने वालों की मृत्यु दर के मामले में 33वें स्थान पर है, उत्तर प्रदेश 27वें नंबर है. हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड टॉप पर है. दिल्ली में प्रति लाख पर 116 कोविड मरीजों की जान जा रही है, दिल्ली इस मामले में टॉप पर है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.