Uttarakhand: उत्तर प्रदेश के बाद उत्तराखंड से भी धर्मांतरण की खबर, जानें कैसे राहुल बना इस्लाम

JBT Staff
JBT Staff June 24, 2021
Updated 2021/06/24 at 2:04 PM

Uttarakhand: हाल ही में उत्तर प्रदेश के नोएडा से धर्मांतरण रैकेट का खुलासा हुआ है, लोगों को गुमराह व डरा धमका कर धर्म परिवर्तन का काम करने वाले मुख्य आरोपियों को हिरासत में भी लिया गया है. इस बीच उत्तराखंड राज्य से भी एक मामला पुलिस के संज्ञान में आ चुका है.

मामला उत्तराखंड के बाजपुर का है जहां परिवार वाले अपने 29 वर्षीय बेटे के लिए बेहद चिंतित हैं, उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण रैकेट (Forcefully Conversion Racket) प्रकाश में आने के बाद उन्हें एक उम्मीद जगी है क्योंकि इस केस के तह तक जाने के आदेश उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा दिए जा चुके हैं.

5 महीने से लापता चल रहे युवक के परिजनों के साथ विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने पुलिस को तहरीर सौंपी है. उनका कहना है बेटे राहुल चंद्रा (29) को दूसरे धर्म के लोगों द्वारा बरगला कर उनसे दूर कर दिया गया है, उनका आरोप था उत्तर प्रदेश में किसी धर्म गुरु ने बेटे ने बेटे को पनाह दी थी, वापस लेने गए तो उनके साथ बदतमीजी हुई, हालांकि पिछले 5 महीने से उसका कोई अता पता नहीं है.

बाजपुर के मुडियाकलां खेड़ा निवासी किरनपाल के भाई राहुल चंद्रा को इस रैकेट का शिकार बताया जा रहा है. उनकी शिकायत के मुताबिक राहुल, 2016 में दुबई गया था, नौकरी के लगभग 3 साल बाद वह घर लौटा तो उसके व्यवहार में कई अजीबोगरीब चेंजेज देखने को मिले, वह अक्सर मस्जिद में नमाज पढ़ने भी जाया करता था.

परिवार वालों ने बेटे की हरकतों पर उससे बात की तो बोला वह इस्लाम कबूल कर चुका है, काफी समझाने बुझाने के बाद भी बात नहीं बनी तो उसका घर से बाहर निकलना बंद किया लेकिन एक दिन वह फरार होने में कामयाब हो गया.

बाद में मालूम हुआ कि वह अपने पुश्तैनी गांव टांडा के कलियर नगला, रामपुर में रहने लगा है, वहां देखा तो वह किसी मुस्लिम परिवार के साथ रह रहा था, जैसे तैसे उसे घर लाए लेकिन इस साल वह फिर भगाने में कामयाब हुआ.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.