Uttarakhand: क्या उत्तराखंड में फिर बदलेगा सीएम, 6 महीने के अंदर तीरथ सिंह रावत को देना होगा इस्तीफा?

JBT Staff
JBT Staff June 22, 2021
Updated 2021/06/22 at 11:40 AM

Uttarakhand: अगले साल उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव हैं जिसके लिए साल भर का भी वक्त अब पूरा नहीं रह गया है. उत्तराखंड में न सिर्फ बीजेपी व कांग्रेस बल्कि आम आदमी पार्टी व उत्तराखंड क्रांति दल भी जान फूंकती नजर आ रही हैं.

10 मार्च 2021, उत्तराखंड को तीरथ सिंह रावत (Tirath Singh Rawat) के रूप में नया मुख्यमंत्री मिला लेकिन 6 महीने नजदीक होने के बाद उनकी कुर्सी पर भी सवालिए निशान साधे जा रहे हैं. जी हां सवैंधानिक तौर पर उनके सीएम पद पर बने रहने को गलत बताया जा रहा है जैसा कि हाल ही में बंगाल चुनाव में देखने को मिला था.

बंगाल में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) खुद नंदीग्राम विधानसभा से चुनाव हार गई थी लेकिन प्रदेश की कमान तृणमूल मुखिया ने खुद को ही सौंपी. ऐसे में रास्ता निकलता है कि आपको 6 महीने के अंदर विधानसभा या विधान परिषद में दावेदारी पेश करनी होती है.

कांग्रेस सीनियर नेता नवप्रभात ने इसी तरह का तर्क उत्तराखंड में दिया है, उनका कहना है संवैधानिक रूप से तीरथ सिंह रावत का मुख्यमंत्री पद पर बने रहना जायज नहीं है. वह दावा करते हैं राज्य में फिर एक बार नेतृत्व बदलने के हालात बनेंगे क्योंकि अधिकारिक तौर तरीके से पौड़ी गढ़वाल से सांसद तीरथ सिंह रावत पद के योग्य नहीं हैं.

न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में वह कहते हैं राज्य में संवैधानिक संकट खड़ा हो रहा है जैसा कि वर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत विधायक नहीं हैं, इसलिए 6 महीने का वक्त होते ही उन्हें पद त्याग देना चाहिए या फिर उन्हें विधायक होना जरुरी है.

बता दें मार्च में तीरथ सिंह रावत को त्रिवेंद्र सिंह रावत के बदले प्रदेश की कमान सौंपी गई थी, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र के खिलाफ विधायकों की नाराजगी की वजह से बड़ा फैसला लिया गया था.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.