Shobhan Sarkar: बाबा की मौत पर उमड़ा जनसैलाब, लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाने वालों पर मुकदमा

JBT Staff
JBT Staff May 15, 2020
Updated 2020/05/15 at 12:54 PM

Sobhan Sarkar Jal Yatra: देश में आस्था के नाम पर इतनी गैरजिम्मेदारी सर पर उठाई जाती है जिसका कोई हिसाब नहीं, मंदिर-मस्जिदों में तमाम पाबंदी के बावजूद लोगों ने आवाजाही नहीं छोड़ी थी, अब अंतिम संस्कार से भी ऐसा जनसैलाब का विडियो वायरल होगा, कोरोना जैसी महामारी में इसकी तो उम्मीद नहीं थी.

देश में कोरोना मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन हैरान कर रह रही है, लॉकडाउन 3.0 के बाद कुछ रियायतें दी गई तो उसके नतीजे भी आने लगे हैं, बड़े शहरों से आए लोग कोरोना को भी साथ में ला रहे हैं, इससे साफ जाहिर होता है जितना इंसान घर से बाहर निकलेगा उतना खतरा मोल लेगा.

लेकिन कैसे कोई इन बाबा के भक्तों को यह बात समझाई जाए कि, वे अपने बाबा को श्रधांजलि घर पर बैठ कर भी दे सकते थे. एक तरफ 80 हजार कोरोना संक्रमितों की संख्या तो दूसरी तरफ लोगों की आवाजाही और भीड़ में शामिल होने की जिद, सरकार ने लिए यह अब नै चुनौती बनती जा रही है.

जिस राज्य के मुख्यमंत्री अपने पिता के अंतिम संस्कार में नहीं जा पाए, वहां जनता कितनी गैर जिम्मेदार साबित हुई, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है. 23 करोड़ आबादी वाले इस प्रदेश में योगी ने अन्य राज्यों के मुकाबले अच्छी रोकथाम की थी, उन्होंने पहले ही इस तरह की गैदरिंग के लिए सख्त मना कहा था.

अब देखना होगा वह क्या कार्रवाई करते हैं, हालांकि भीड़ के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हो चुका है. शोभन सरकार श्री 1008 विरक्तानंद जी महाराज के जल समाधि के दौरान उमड़ी भीड़ के पास पुलिस तो है लेकिन उन्हें काबू में करने का कोई जोखिम नहीं उठाया गया.

उत्तर प्रदेश कानपूर के चौबेपुर थाने में तीन और शिवली में एक मुकदमा दर्ज किया गया है. बुधवार को बाबा ने अंतिम सांस ली थी, इसके बाद से ही भक्तों की भीड़ उनके आश्रम में उमड़ने लगी थी. 4 हजार से ज्याद अज्ञात लोगों पर मुकदमा किया गया है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.