UP: कोल्ड स्टोरेज मालिक के इकलौते बेटे के लापता होने के हफ्ते बाद कत्ल की खबर, 2 करोड़ की फिरौती…

JBT Staff
JBT Staff June 28, 2021
Updated 2021/06/28 at 6:58 PM

UP Cold Storage owner’s son murder: कोरोना काल में दोस्त ने ही रची ऐसी साजिश कि मानो सब कुछ छिन गया. 21 जून की शाम को आगरा के बड़े कारोबारी का बेटा लापता हो गया था, एक हफ्ते बाद भी वह नहीं लौटा लेकिन उसकी मौत की खबर ने परिवार को झकझोर के रख दिया.

कोल्ड स्टोरेज मालिक सुरेश चौहान व 25 वर्षीय इकलौते बेटे सचिन चौहान के जानने वालों ने ही ऐसी साजिश रची कि परिवार पूरी तरह बिखर चुका है. 2 करोड़ की फिरौती की रकम की योजना बनाने वाले 2 मुख्यारोपी हर्ष चौहान सुमित असवानी के साथ उनके साथी हैप्पी खन्ना, रिंकू व मनोज बंसल पुलिस की हिरासत में हैं.

घटना आगरा के दयालबाग इलाके की है जहां कोल्ड स्टोरेज मालिक सुरेश चौहान (Suresh Chauhan) का बेटा सचिन चौहान (Sachin Chauhan) भी व्यपार में हाथ बंटाने लगा था, 21 जून की रात को लोअर-टीशर्ट में ही वह घर से बाहर टहलने निकल गया लेकिन जब देर रात तक घर नहीं लौटा व फोन नहीं लगा तो परिवार की चिंता का ठिकाना नहीं था.

एक के बाद एक सचिन के कई दोस्तों से संपर्क साधा गया लेकिन किसी से उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली, अंत में जब न्यू आगरा थान में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई. रिपोर्ट दर्ज होते ही पुलिस ने फिरौती वाले एंगल को उपर रखा क्योंकि पिता एक बड़े कारोबारी हैं, अंदाजा सही निकला और सुरेश चौहान को 2 करोड़ की बड़ी रकम के लिए कॉल आया.

इस केस में STF भी पुलिस के साथ जुटी, एसटीएफ प्रभारी हुकुम सिंह ने जानकारी दी कि सचिन किडनेपिंग मामले में कमलानगर के हैप्पी खन्ना को पकड़ लिया गया, पूछताछ के दौरान उसने न सिर्फ अपना जुर्म कबूल किया बल्कि पूरी पोल खोल डाली.

हर्ष चौहान, हैप्पी खन्ना, रिंकू, सुमित असवानी, मनोज बंसल को अपहरण व हत्याकांड में गिरफ्तार कर लिया गया है

अपहरण के बाद कार में कुछ ही घंटों बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी, कोरोना काल का फायदा उठाते हुए PPE किट पहनकर ऐसी चाल चली कि जिससे लगा किसी कोरोना पेशेंट की बॉडी का अंतिम संस्कार करवाया जा रहा हो, बल्केश्वर शमशान घाट में सचिन का अंतिम संस्कार करवाया.

मुख्यआरोपी हर्ष सुरेश व बेटे सचिन चौहान के साथ मिलकर ठेकेदारी का काम किया करता था, विश्वासघात की सारी सीमाएं लांघ उसने घर के इकलौते चिराग को हमेशा के लिए बुझा दिया, इनमें से सुमित असवानी नाम के आरोपी पर सचिन का 40 लाख का कर्जा भी था.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.