Tirath Singh Rawat Resigns: तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे की क्या हो सकती है असल वजह, केवल संवैधानिक संकट तो नहीं

JBT Staff
JBT Staff July 3, 2021
Updated 2021/07/03 at 9:27 AM

Tirath Singh Rawat Resigns: संवैधानिक संकट का हवाला देते हुए भले तीरथ सिंह रावत ने उत्तराखंड सीएम की कुर्सी मात्र चार महीने में ही छोड़ दी हो लेकिन इसके पीछे सिर्फ ये वजह काफी नहीं हो सकती है क्योंकि इसका तो समाधान भी निकल सकता था.

कहीं न कहीं पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को अचानक पद से हटाने के बाद उत्तराखंड बीजेपी के आंतरिक मामले उतने सुलझे हुए नहीं पाए गए, अमर उजाला ने अपने एक रिपोर्ट में खुलासा किया कि त्रिवेंद्र सरकार के बाद आंतरिक सर्वे में यह पाया गया कि तीरथ सिंह रावत (Tirath Singh Rawat) बतौर मुख्यमंत्री चेहरा चुनाव जीतना मुश्किल है.

आपको बता दें त्रिवेंद्र सरकार और तीरथ सरकार में कुछ ज्यादा फर्क देखने को नहीं मिला, सीएम पद पर बैठने के तुरंत बाद ही पौड़ी सांसद सीट खाली हुई जिस पर उपचुनाव होना था. दूसरी तरफ बीजेपी की छवि न सिर्फ प्रदेश में बल्कि राष्ट्रीय स्तर, सीएम के अजीबोगरीब बयानों से धूमिल हो रही थी.

ऐसे में उपचुनावों में सीएम पद पर बैठे तीरथ सिंह रावत हारते या फिर उनके नेतृत्व में पौड़ी लोकसभा सीट से पार्टी हारती तो पार्टी को सियासी नुकसान हो सकता था. कल ही खबरों ने रफ्तार पकड़ी थी कि गढ़वाल मंडल के गंगोत्री विधानसभा सीट जो अप्रैल से खाली पड़ी है, उसपर सीएम उपचुनाव लड़ेंगे, आम आदमी पार्टी की तरफ से रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल ने उन्हें चैलेंज तक कर लिया था.

कहीं न कहीं पार्टी को तीरथ सिंह रावत बतौर सीएम प्रभावी नहीं लगे, उनके उपचुनाव में हारने का डर तो था ही साथ ही उनके चेहरे के साथ होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 में भी पार्टी को कुछ सहज सा नहीं लगा. 10 मार्च को सीएम कुर्सी पर बैठे तीरथ सिंह रावत ने 2 जुलाई को अपना इस्तीफा राज्यपाल बेबी रानी मौर्या को सौंप दिया.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.