Uttarakhand: सीएम तीरथ के बयान पर फिर मचा बवाल, मरकज और कुंभ में कोरोना को लेकर दिया तर्क

JBT Staff
JBT Staff April 14, 2021
Updated 2021/04/14 at 11:37 AM

Uttarakhand: इसी साल मार्च में उत्तराखंड के सीएम पद की कुर्सी पर बैठने वाले पौड़ी गढ़वाल के सांसद तीरथ सिंह रावत आए दिन कुछ न कुछ ऐसा बोल बैठते हैं जिसके बाद सुनने को मिलता है कि मुख्यमंत्री पद पर बैठने वाले को यह बयान जमता नहीं है.

यूं तो भावनाओं में बहकर अक्सर तीरथ सिंह रावत जरुर से ज्यादा बोल जाते हैं, साथ ही उनके फैसले भी कुछ इसी तरह के होते हैं. मुख्यमंत्री बनते ही उन्होंने त्रिवेंद्र सरकार के नियमों के साथ कई बदलाव लिए, कुंभ में उन्होंने कोरोना गाइडलाइन पर बिना जोर दिए सभी का स्वागत किया जबकि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुंभ को कोरोना को ध्यान में रखते हुए आयोजित करने की बात कही थी.

वहीं इन दिनों शाही स्नान की तस्वीरें व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, हर कोई सवाल उठा रहा है आखिर हरिद्वार के महाकुंभ से कोरोना कहां गायब हो गया है. पिछले साल तब्लीगी जमात के लोगों को खूब खरी खोटी सुननी पड़ी थी, उन हालातों से तुलना करते हुए लोगों ने उत्तराखंड के नियम कानूनों पर सवाल खड़े किए हैं.

इस पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (Tirath Singh Rawat) का कहना है मरकज और कुंभ मेले की तुलना करना ठीक नहीं है क्योंकि मरकज बंद कमरे में आयोजित होने की वजह यहां कोरोना फैलता है जबकि कुंभ हरिद्वार से देवप्रयाग तक खुले वातावरण में है. मां गंगा की कृपा से यहां कोरोना नहीं फैल सकता है.

कुंभ मेले से श्रद्धालुओं की भारी भीड़ व शाही स्नान के दौरान क्लिक होने वाली तस्वीरों पर सवाल उठाते हुए कई नेताओं व नामी हस्तियों ने तक सवाल उठाते हुए कहा है कि कुंभ से वापस आ रहे लोगों के लिए नए नियम बनने चाहिए, अंदेशा जताते हुए बोल रहे हैं कि कुंभ कोरोना का बड़ा हॉटस्पॉट बन सकता है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.