तबरेज मॉब लिंचिंग: 11 आरोपियों पर लगी IPS की धारा 302, वीडियो की हुई पुष्टि

JBT Staff
JBT Staff September 19, 2019
Updated 2019/09/19 at 11:03 AM

Tabrez Ansari Mob Lynching: 11 आरोपियों पर लगी आईपीएस (IPS) की धारा 302, वायरल वीडियो की हुई पुष्टि.

17 जून को घटित झारखंड (Jharkhand) की घटना किसको याद नहीं, पूरा देश तबरेज मॉब लिंचिंग (Tabrez Mob Lynching) को लेकर तरह तरह के बयानों पर उतर आया था. भीड़ ने मुस्लिम लड़के पर गुस्से से इस तरह कहर बरपाया कि वह जिंदगी से हाथ धो बैठा था.

24 वर्षीय तबरेज पर बाइक चोरी का शक था, भीड़ ने कानून को न सिर्फ हाथ में लिया बल्कि घटना को धार्मिक रंग से रंग दिया था. जिसके बाद देश में फिर एक बार हिन्दू-मुस्लिम के विवादों ने जगह लेली थी.

पिटाई के चार दिन बाद हॉस्पिटल में ही तबरेज ने दम तोड़ा था, जांच में वायरल वीडियो को पुलिस ने सही पाया है. जबकि इससे पहले हत्या का आरोप खारिज किया गया था. इससे साफ होता है कि युवक की मौत बेरहमी पिटाई से ही हुई है और 11 लोग इस दर्दनाक मौत के जिम्मेदार हैं.

वीडियो की पुष्टि होने के बाद भारतीय दंड संहिता (IPC) के तहत हत्या की धारा (302) को चार्जशीट में जोड़ा गया है. आपको बता दें तबरेज की विधवा पत्नी शाहिस्ता ने हत्या की धारा 302 नहीं लगाने पर सुसाइड की धमकी दी थी, इसी के साथ ही शाहिस्ता ने हाई कोर्ट में 50 लाख मुआवजा व सरकारी नौकरी की याचिका डाली है.

आरोपियों के वकील सुबोध चंद्र हजरत ने फिर एक बार कहा कि उनके मुवक्किलों के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं है, एफआईआर में घटना की तारीख और समय स्पष्ट नहीं है, चश्मदीद गवाह भी नहीं है.

झारखंड के जमशेदपुर निवासी तबरेज अंसारी ने घटना के चार दिन बाद 22 जून को दम तोड़ दिया था, कार्डियक अरेस्ट उसकी मौत का कारण बताया गया था.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.