Sunita Yadav: मंत्री के बेटे को सबक सिखाने वाली कांस्टेबल का हुआ तबादला, मामले की होनी है जांच

JBT Staff
JBT Staff July 13, 2020
Updated 2020/07/13 at 4:46 PM

Sunita Yadav: यूं तो कोरोनावायरस ने भारत में तबाही मचा रखी है, अर्थव्यवस्था और लोगों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए जीवन चक्र को पुनः आरम्भ किया गया है लेकिन अभी भी नियमों को ध्यान में रखते हुए रियायतें दी गयी हैं.

एक तरफ जहां रात को सम्पूर्ण कर्फ्यू का आदेश है तो वहीं गुजरात सरकार में स्वास्थ्य मंत्री कुमार कानाणी (Kishore Kanani or Kumar) के बेटे ने रात 10 बजे के बाद सड़क पर घूमने के लिए दोस्तों की वकालत की, ड्यूटी पर तैनात महिला पुलिसकर्मी उसे नियमों के बारे में बताती है तो वह रौब झाड़ने की कोशिश करने लगता है.

9 तारीख की रात के घटनाक्रम का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, इसमें साफ देखा जा सकता है कि देर रात को ड्यूटी पर तैनात पुलिस पर मंत्री का बीटा प्रकाश किस तरह दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है. धमकी भरे लहजे में वह कहता है कि ‘365 दिन के लिए इसी जगह पर खड़े रहने की ड्यूटी लगवा दूंगा’, इस बात से गुस्साई सुनीता यादव (Sunita Yadav) बोली ‘ये वर्दी तेरे पापा की गुलाम नहीं’.

रिपोर्ट के मुताबिक 9 जुलाई की रात को लगभग साढ़े 10 बजे वराछा के मिनी बाजार इलाके में सुनीता एक कार को रोकती है जिसमें 5 शख्स मौजूद थे, तभी मंत्री का बेटा प्रकाश आता है और कहता है कि मंत्री कुमार का बीटा है और दोस्तों की मदद के लिए आया है. मंत्री किशोर कानाणी ने बेटे के लिए सफाई देते हुए कहा कि वह किसी बीमार रिश्तेदार के पास गया था.

सोशल मीडिया पर सुनीता को खूब सराहा जा रहा है, उन्होंने ट्विटर पर जानकारी दी कि मंत्री को बेटे से माफी मांगने से ज्यादा बेहतर समझा कि इस्तीफा दिया जाए. हालांकि उनके इस्तीफे को मंजूरी नहीं मिली है लेकिन पुलिस मुख्यालय उनका ट्रांसफर हो चुका है.

सोशल मीडिया पर सपोर्ट में उतर रहे हैं लोग:

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.