Sunita Yadav needs help: लेडी सिंघम सुनीता यादव को है जान का खतरा, PM मोदी को बोली ‘मर जाऊं तो मिलने आना’

JBT Staff
JBT Staff July 23, 2020
Updated 2020/07/23 at 9:45 AM

Sunita Yadav needs help: सूरत की बेबाक महिला कांस्टेबल सुनीता यादव को आज पूरा देश जानता है, लेकिन ईमानदारी से ड्यूटी करने का जो नतीजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है वह देश के लिए बेहद शर्मनाक है. फेसबुक लाइव के जरिए उन्होंने डरावनी आपबीती बताने की कोशिश की लेकिन खुलकर नहीं बता पाई.

गुजरात के स्वास्थ्य मंत्री कुमार कानाणी (Kishore Kanani or Kumar) के बेटे प्रकाश कानाणी (Prakash Kanani) को कोरोना काल में नियमों का उल्लंघन करते देख सबक सिखाना सुनीता यादव के लिए भारी पड़ता जा रहा है. उन्होंने बताया कि कुछ अंजान लोग उनकी इनफार्मेशन जुटा रहे हैं, धमकी भरे कॉल्स और मेसेज आते हैं.

उन्होंने एक और चीज क्लियर की, उनका कहना है इस्तीफा देने के लिए पीछे सिर्फ यह घटना वजह नहीं. वह पढ़ाई कर आईएस का एग्जाम क्लियर करना चाहती हैं, और अधिक पॉवर अर्जित कर देश की दिल व जान से सेवा करना चाहती हैं. जिस तरह की घटनाएं उनके साथ इन दिनों हो रही हैं, उससे उन्हें जान खतरा नजर आ रहा है, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें किसी बात का डर नहीं है.

फेसबुक लाइव में उन्होंने बहुत सी बातों की ओर इशारा करना चाहा, उन्होंने अपने साथ निर्भया जैसे कांड की भी आशंका जताई है. सुनीता (Sunita Yadav) कहती हैं कि अगर उनके साथ ऐसा कुछ होता है तो, कैंडल मार्च मत करना. उनकी ख्वाहिश है कि आर्मी की यूनिफार्म पहनाकर उन्हें तिरंगे में लिपटाकर अंतिम विदाई दी जाए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का जिक्र करते हुए वह कहती हैं कि जीते जी आप मुझसे नहीं मिले लेकिन मर जाऊं तो मेरी डेडबॉडी के पास ज़रुर आना. बता दें मामला 9 जुलाई की रात का है जब सुनीता यादव ने मंत्री के बेटे को लॉकडाउन के चलते रोक लिया था.

सुनीता यादव और प्रकाश कानाणी के बीच विवाद की अभी तक जांच चल रही है, इसमें अधिकारी में बदल दिया गया है. शहर पुलिस आयुक्त राजेंद्र ब्रह्मभट्ट ने जानकारी दी कि इसकी जांच ACP सीके पटेल से लेकर एफ डिवीजन ACP जेके पांड्या को दे दी गई है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.