India News

Shahabuddin: गैंगस्टर शहाबुद्दीन के नाम से कांपते थे लोग, 4 बार सांसद 2 बार रहा था विधायक

Shahabuddin: तिहाड़ जेल में सजा काट रहे पूर्व सांसद की मौत को पहले आईजी संदीप गोयल ने अफवाह बताया और बाद में इसकी खुद ही पुष्टि की, RJD के नेताओं ने सोशल मीडिया पर उसकी मौत को लेकर सवाल भी उठाए, दिल्ली के दीनदयाल अस्पताल में कोरोना संक्रमण के इलाज के दौरान पूर्व सांसद ने दम तोड़ दिया.

शेख मोहम्मद शहाबुद्दीन (Sheikh Mohammad Shahabuddin) का इतिहास पुराना रहा है, एक पुराने केस के ही चलते वह दिल्ली के तिहाड़ जेल में सजा काट रहा था. लालूप्रसाद यादव की पार्टी के दबंग नेता शहाबुद्दीन की दादागिरी जेडीयू सरकार आने के बाद लड़खड़ाती नजर आई, नीतीश सरकार ने लालू के करीबी गैंगस्टर नेता को इस तरह शिकंजे में कसा कि पिता की मौत पर भी पैरोल नहीं मिली.

यह भी पढ़ें:  Almora Mob Lynching: अल्मोड़ा मॉब लिंचिंग में 8 गिरफ्तार, सोशल मीडिया यूजर्स को पुलिस चेतावनी

किसी जमाने में यह बाहुबली नेता खुद को कानून से उपर समझता था, बताया जाता है कि अपने क्षेत्र सीवान के लोगों में उसका इतना खौफ था कि कोई भी अपनी अमीरी का दिखावा करने में डरता था क्योंकि उस वक्त वह रंगदारी भी किया करता था, डर से लोग इतनी इज्जत दिया करते थे कि घरों में उसकी तस्वीरें लगी होती थी.

अपराधिक मामलों की लंबी लिस्ट के चलते साल 2009 में निर्वाचन आयोग ने शहाबुद्दीन पर इलेक्शन लड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया था जिसके बाद पत्नी हिना शहाब चुनावी मैदान में उतरी लेकिन सफलता हांसिल नहीं हुई. कहा यह भी जाता है कि बिहार की राजनीति के बड़े नेता लालूप्रसाद यादव के करीबी होने के कारण वह कानून के शिकंजे में नहीं आ पाया.

यह भी पढ़ें:  Kangana Controversy: कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट हुआ सस्पेंड, सोशल मीडिया पर Memes की बाढ़

लालू के परिवार से शहाबुद्दीन की मौत पर जिस तरह की प्रतिक्रिया आई है उससे साफ होता है वे कितने करीबी थे, पूर्व मुख्यमंत्री लालू की बेटी ने रोहिणी आचार्य ने इसमें नेताओं की लापरवाही बताई है, वहीं तेजस्वी यादव ने इसे पार्टी के बड़ी क्षति बताया.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top