India News

Ram Mandir in Ayodhya: अयोध्या में बनेगा भव्य राम मंदिर, फैसले से जुड़े 10 बातें जो सभी को मालूम होनी चाहिए

Ram Mandir in Ayodhya: 40 दिनों तक चली मैराथन बहस कोर्ट ड्रामे का नतीजा निकला कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा जबकि मस्जिद के लिए भी जमीन का फैसला किया गया है.

जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में हुई सुनवाई

रामलला विराजमान व सुन्नी वक्फ बोर्ड के बीच चली बहस के बाद एससी (SC) ने अपना फैसला आखिरकार सुना ही दिया. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस अरविंद बोबड़े, जस्टिस अब्दुल नजीर, जस्टिस धनंजय यशवंत चंद्रचूड, जस्टिस अशोक भूषण ने केस की सुनवाई सुनवाई की.

कब शुरू हुआ था अयोध्या विवाद

अंग्रेजों के शाशनकाल से चल रहे इस विवाद के बारे में कहा जाता है कि, अंग्रेज ही जिन्होंने हिन्दू-मुस्लिम एकता में फूट डालने के लिए इसे हवा दी, बाद में राजनीतिक पार्टियों ने इसे मुद्दा बनाया, इस तरह 1813 से यह केस बड़ी सर दर्दी बना और देश में साम्प्रदायिक माहौल पर असर पड़ा.

यह भी पढ़ें:  Ram Mandir: भूमि पूजन से पहले प्रियंका गांधी ने जारी किया स्टेटमेंट, 'राम सब में हैं, सबके साथ हैं'

कब शुरू हुई मैराथन बहस

6 अगस्त 2019 से नियमित मैराथन बहस के बाद आज फैसला राम मंदिर के हित में हुआ है. यह एक ऐतिहासिक फैसला है.

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी , ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सहित तमाम मुस्लिम फैसले से खफा हैं. जबकि SC ने निर्मोही अखाड़ा, सुन्नी वक्फ बोर्ड के दावों को बेसलेस बताया.

मंदिर ही नहीं मस्जिद भी बनेगा

67 एकड़ अयोध्या की जमीन पर भव्य राम मंदिर जबकि अयोध्या में ही अलग जगह पर 5 एकड़ जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड बना सकते हैं मस्जिद.

केंद्र सरकार करेगी ट्रस्ट का गठन

आने वाले 3 महीनों में केंद्र सरकार गठन का निर्माण करेगी, जो अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य करवाएंगे.

यह भी पढ़ें:  Ram Mandir: असदुद्दीन ओवैसी ने तस्वीरें शेयर करते हुए कहा 'बाबरी जिंदा है', बोले PM का जाना सवैंधानिक नहीं

किस बड़े मुस्लिम नाम ने किया फैसले का स्वागत?

दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा देश की तरक्की मायने रखती है, इस फैसले का पूरा स्वागत है. उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जफर फारुकी ने भी साफ कहा कि वह क्यूरेटिव पिटीशन दायर नहीं करेंगे.

पीएम मोदी ने इसे किसी की हर-जीत का नाम देने से इंकार कहा, उन्होंने कहा देश की एकता सबसे उपर है. इस पर शांति व्यवस्था बनाए रखें.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top