India News

Rafale Controversy: कांग्रेस ने लगाया मोदी सरकार पर आरोप, बोले इतने में तो 126 राफेल आने थे

Rafale Controversy: फ्रांस के साथ राफेल डील को लेकर कांग्रेस आज भी शांत नहीं है, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला सहित कई बड़े कांग्रेसी नेताओं ने इस सौदे पर कई सवाल खड़े किए हैं.

आपको बता दें कल अंबाला एयरबेस (Ambala Air Base) पर पांच राफेल फाइटर जेट्स सही सलामत लैंड हो गए हैं, भाजपा समर्थकों में इसको लेकर बड़ा उत्साह है, जगह-जगह मिठाईयां बंटी हैं, खासकर पायलटों के घरों में लोग बधाईयाँ देने पहुंचे व उनके घरवालों को लड्डू खिलाए गए.

एक तरह जहां देशवासियों में जश्न का माहौल बना हुआ है तो दूसरी तरफ कांग्रेस, फ्रांस के साथ हुई सौदेबाजी से नाखुश नजर आ रही है. आपको बता दें 36 मल्टीरोल राफेल विमानों की डील पांच साल पहले हो गई थी, इनमें से पहला राफेल साल 2019 में भारत लाया गया था जबकि पांच विमानों को कल 29 जुलाई 2020 को लाया गया.

यह भी पढ़ें:  Sonu Punjaban: गीता अरोड़ा से सोनू पंजाबन बनने तक की कहानी क्राइम थ्रिलर फिल्म, जुर्म ऐसे सजा 24 साल भी कम

यूं तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने राफेल का भारत में स्वागत किया, वायुसेना के जांबांज लड़ाकुओं को इस मौके पर बधाई दी लेकिन देशभक्ति की बात करने वालों से अपील की कि हर देशभक्त की ये सवाल पूछना चाहिए कैसे ₹526 करोड़ का विमान ₹1670 करोड़ हो गया, जैसा कि इस डील के बारे में बताया जा रहा था कि 36 विमानों को फ्रांस से 59 हजार करोड़ में खरीदा गया है.

रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने सवाल यह भी उठाया है कि ‘मेक इन इंडिया की बजाय मेक इन फ़्रान्स क्यों?’. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी इसी तरह के सवाल ट्विटर पर शेयर किए हैं.

यह भी पढ़ें:  Mann Ki Baat: मजदूर के टॉपर बेटे को पीएम मोदी ने खास अंदाज में दी बधाई, जानिए क्या कहा?

वहीं भाजपा का आरोप है कि ज्ञानी अर्थशास्त्री के नेतृत्त्व में राफेल डील सालों तक लटकी रही, जबकि एक चायवाले के आगुवाई में ये हुआ क्योंकि नियत साफ है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top