Raeesa Ansari: फल-सब्जी बेचने वाली पीएचडी रईसा अंसारी ने बताई अपनी कहानी, किताबें हुआ करती थी सहेली

JBT Staff
JBT Staff July 24, 2020
Updated 2020/07/24 at 6:26 PM

Raeesa Ansari tells her story: इंदौर के एक सब्जी वाली के मुंह से अंग्रेजी निकली तो देशवासियों के कान खड़े हो गए, इस 36 वर्षीय महिला का नाम है रईसा अंसारी (Raeesa Ansari) जो इंदौर नगर निगम के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रहीं हैं.

अंग्रेजी भाषा में नगर निगम से सवाल करने पर रईसा (Raeesa Ansari) फेमस हो गयी, इसके बाद अब लोगों को उनके बारे में चौंकाने वाला सच भी पता चल गया है कि वह इंदौर की देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (Devi Ahilya Vishwavidyalaya) से पीएचडी (PhD) हैं. मीडिया ने उनके सब्जी के ठेले की पीछे की कहानी पता की जो भावुक करती है.

इंदौर म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (IMC) के अधिकारी जब फलों और सब्जियों के ठेली लगाने वालों को हटने के आदेश देते हैं तो रईसा आगे आती हैं और सवालों की लड़ी लगा देती हैं, ऐसे में अधिकारी कुछ एक्शन लेते रईसा के इंग्लिश से सब चौंक गए और उनकी विडियोज बनने लगी.

वैसे तो मध्यप्रदेश के इंदौर (Indore) में कोरोना बेकाबू हो चुका है, ऐसे में सरकार भी तरह-तरह के आदेश जारी कर रही है लेकिन रईसा का कहना है इस महामारी में करें तो करें क्या, कैसे रेड़ी ठेली वाले घर चलाएं, हर दूसरे दिन नगर निगम वाले उन्हें परेशान करने आ जाते हैं. आपकों बता दें इंदौर में कोरोना ने 302 लोगों की जान लेली है जबकि कोरोना के केस भी 6 हजार से उपर हैं.

मीडिया को रईसा ने अपने बारे में जानकारी दी कि वह इंदौर के ही DAVV से पीएचडी कर चुकी हैं, वह बचपन से वैज्ञानिक बनने की चाह रखती हैं लेकिन जिंदगी ने सब्जी बेचने के लिए मजबूर कर दिया, साथ ही उसने बताया कि सब्जी बेचना उनका खानदानी पेशा है.

पीएचडी के बाद लोकल के ही कई इंजीनियरिंग कॉलेज में उन्होंने असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर टीचिंग भी की है, घर परिवार में कुछ दिक्कतें ऐसी आई कि उन्हें 2017 से खानदानी पेशे में आना पड़ा, बचपन से ही उन्हें पढ़ने का बड़ा शौक था, किताबों को ही वह अपनी सहेली समझती थी.

यहां देखिए उसके वायरल विडियो का एक नमूना:

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.