Fact Check: यह पुलवामा अटैक शहीद की नहीं बल्कि हॉनर किलिंग में मारे गए युवक की तस्वीर है

JBT Staff
JBT Staff February 19, 2020
Updated 2020/02/19 at 3:41 PM

Pulwama martyr photo truth: सोशल मीडिया पर अक्सर शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए लोग तस्वीरें शेयर करते हैं, देश के प्रति जान की बाजी लगाने वाले जवानों की पोस्ट को देखते ही लोग शेयर करते हैं और आर्मी को देश की सुरक्षा के लिए नमन करते हैं.

सोशल मीडिया के इस ज़माने में फेक न्यूज का फैलना आम बात हो गया है, जैसा कि पुलवामा हमले (Pulwama Attack) को पूरा एक साल हो गया है, सोशल मीडिया यूजर्स ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी और उनसे रिलेटेड पोस्ट्स को खूब शेयर किया, इस बीच एक तस्वीर वायरल हुई जहां क्यूट सा बच्चा अपने पिता की तस्वीर की ओर देख रहा है.

इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर पुलवामा शहीद की तस्वीर बताकर पेश किया गया और यूजर्स ने बिना छान बीन किए इसको वायरल करना शुरू कर दिया. तस्वीर यह भी बेहद भावुक है लेकिन इसकी सच्चाई और कुछ है न कि वो जो बताई जा रही है. तस्वीर में आप देख सकते हैं किस तरह एक महिला, बच्चे को गोद में लिए हुए है, बच्चा तस्वीर (बड़ा फ्रेम) की निहार रहा है.

अब फोटो की सच्चाई जानने के इच्छुक लोगों को बता दें कि यह तस्वीर एक हकीकत है लेकिन किसी पेज से चंद लाइक्स के लिए फेक कैप्शन के साथ शेयर किया है. तस्वीर में मौजूद युवक का नाम है प्रणय कुमार, जो साल 2018 में हॉनर किलिंग में जान गंवा बैठा था.

जी हां तस्वीर में दिख रही महिला, प्रणय की पत्नी व उनकी गोद में दिख रहा बच्चा प्रणय का बेटा है. तेलंगाना का यह चर्चित हॉनर किलिंग मामला है, उस वक्त प्रणय की वाइफ गर्भवती थी.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.